Breaking News

माता – पिता की इन बातों से बच्‍चों में आता है आत्‍म विश्‍वास

हर पेरेंटस चाहते है कि उनका बच्चा जिंदगी में आगे चलकर एक सफल इंसान बने। ये इस पर निर्भर करता है कि मां-बाप किस तरह की परवरिश अपने बच्चों को देते है। बच्चों को अच्छी परवरिश देने के लिए ये बहुत जरुरी है कि आप उन्हें महंगे खिलौने की बजाए आत्मविश्वास दें। एक सफल इंसान बनने के लिए बच्चों के अंदर आत्मविश्वास भरना पेरेंटस का ही फर्ज होता है। अगर बच्चें को खुद पर भरोसा होगा तभी वो अपनी जिंदगी में एक सफल इंसान बन पाएगा।

एक शोध के दौरान इस बात को सिद्ध किया गया है कि कम आय बाले माता-पिता के बच्चें ज्यादा आत्मविश्वासी होते है। इसका कारण ये है कि कम आय या मध्यम आय वाले पेरेंटस अपने बच्चों को ज्यादा समय देेते है। इसके अलावा कामकाजी कम आय वाली महिलाएं भी अपने बच्चों को पूरा समय देने के लिए पूरी कोशिश करती है।

पेरेंटस के ध्यान देने के कारण बच्चें अपने माता-पिता से कई बात छुपाते नहीं है। ऐसे मां बाप अपने बच्चों को कोई भी परेशानि होने पर उससे लड़ना सिखाते है। इससे बच्चे का आत्म-बल बढ़ता है। इसके अलावा ऐसे पेरेंटस के ध्यान देने पर बच्चें अपने डर से लड़ना सिखते है। सिर्फ इतना ही नहीं इस वर्ग वाले पेरेंटस बच्चा का किसी से झगड़ा होने पर उसे लड़ने की बजाए शांति से काम लेना सिखाते है। जिससे बच्चा अग्रेसिव बनने की बजाए शांत स्वभाव का बनता है।

कम आय वाले पेरेंटस बच्चों की पढाई को लेकर भी काफी सीरियस होते हैं। इस तरह के पेरेंटस बच्चों को ट्यूशन पर पढ़ाने की बजाए उन्हें खुद पढ़ाते है। इसी कारण पेरेंटस अपने बच्चों की कमजोरियों और कमियों को पहचान पाते है। जिसे जानने के बाद वो बच्चों की इन्हीं कमियों को दूर करने की कोशिश करते है। इससे बच्चों को अपनी जिंदगी में कभी भी निराशा का सामना नहीं करना पड़ता। एक शोध में यह भी कहा गया है कि पिता के होम वर्क कराने से बच्चें स्कूल के मुकाबले में काफी अच्छा प्रदर्शन करते है।

-----
लिंक शेयर करें