Breaking News

गुजरात विधानपरिषद चुनाव : धर्मसंकट में हैं शंकर सिंह बाघेला

नई दिल्ली: मंगलवार को राज्यसभा की तीन सीटों के लिए गुजरात विधानसभा में विधायकों के जरिए वोट डाले जाने हैं। वोटिंग के दिन शंकर सिंह वाघेला को अपनी रिश्तेदारी या दोस्ती में से किसी एक को चुनना होगा। हाल ही में कांग्रेस छोड़ बीजेपी ज्वाइन करने वाले बलवंत सिंह राजपूत शंकर सिंह वाघेला के रिश्ते में समधी हैं, जबकि अहमद पटेल पिछले 25 सालों से उनके दोस्त हैं।

वाघेला के लिए राज्यसभा का ये चुनाव अस्तित्व का चुनाव भी है, क्योंकि वे पहले ही बीजेपी छोड़ कांग्रेस में आए हैं और वे कांग्रेस से अपना इस्तीफा भी दे चुके हैं। हालांकि अभी तक उन्होंने बतौर विधायक अपना इस्तीफा नहीं दिया है। इस वजह से वो राज्यसभा के लिए होने वाले मतदान में अपना वोट डाल सकते हैं।

बाघेला के ऊपर अपने समधी को जिताने के साथ-साथ अपने बेटे का राजकीय भविष्य तय करने की जिम्मेदारी है। हालांकि कांग्रेस से अब तक जिन 6 विधायकों ने इस्तीफा दिया है। उसके पीछे लोग शंकर सिंह वाघेला को ही जिम्मेदार मानते हैं। इतना ही नहीं कांग्रेस में अभी ऐसे सात विधायक और भी हैं, जिन्होंने फिलहाल इस्तीफा तो नहीं दिया है लेकिन वे पार्टी से बगावत कर चुके हैं। एेसे में देखना दिलचस्प होगा कि शंकर सिंह वाघेला अपने पारिवारिक रिश्तों में उलझते हैं, या फिर उस स्वच्छ राजनीति में जिसे लेकर उन्हें अपने जन्मदिन के दिन कहा था कि, कांग्रेस ने उन्हें बहुत कुछ दिया है।

-----
लिंक शेयर करें