Breaking News

15 अगस्‍त को नौसेना के प्रशिक्षण का होगा प्रसारण

नई दिल्ली: नौसेना के जांबाज अफसरों को तैयार करने वाली भारतीय नौसैनिक अकादमी में जवानों को किस तरह की ट्रेनिंग कराई जाती है। पहली दफा नैशनल जियोगराफिक चैनल के माध्यम से 15 अगस्त को प्रसारण किया जाएगा। केरल के कन्नूर  में स्थित यह अकादमी 25 सौ एकड़ में फैली है जहां हर साल 12 सौ नौसैनिक अफसर तैयार किये जाते हैं।

 यहां नौसेना के चीफ आफ पर्सनल एडमिरल चावला ने इस फिल्म को जारी करने के मौके पर बताया कि नौसेना के भारी विस्तार की सम्भावनाओं के मद्देनजर अकादमी के महत्वाकांक्षी विस्तार का दूसरे चरण का काम चल रहा है। उन्होंने उम्मीद जाहिर की कि 2020 तक यह दूसरा चरण पूरा हो जाएगा और वहां से सालाना 17 सौ नौसैनिक अफसर तैयार किये जा सकेंगे। फिलहाल वहां से  12 सौ अफसरों को ट्रेनिंग मिलती है।

उल्लेखनीय है कि हिंद महासागर में बढ़ती समुद्री चुनौतियों और चीन की बढ़ती नौसैनिक मौजूदगी के मद्देनजर भारतीय नौसेना को दो सौ युद्धपोतों वाली नौसेना बनाने की तैयारी चल रही है। चूंकि  इन पोतों के संचालन के लिये भारी संख्या में नये आधुनिक इंजीनियरी और तकनीकी ज्ञान वाले नौसैनिक अफसरों की जरुरत है इसलिये अकादमी में अफसरों को इंजीनियरी की पढ़ाई करवा कर उन्हें बीटेक की डिग्री  दी जाती है।

नौसेना ने तय किया है कि युद्धपौतों पर तैनात होने वाले सभी अफसर  इंजीनियरी शिक्षा हासिल करेंगे।एजीमला नौसैनिक अकादमी में विश्व स्तर की ट्रेनिंग सुविधा है। इसे एशिया की सबसे उत्तम नौसैनिक अकादमी में गिना जाता है। नौसैनिक अधिकारियों के मुताबिक नौसेना में फिलहाल  67 हजार नाविक और 12 हजार अफसर हैं जिनमें करीब 15 प्रतिशत बढो़तरी का प्रस्ताव है। इसके मद्देनजर नौसैनिक अकादमी में ट्रेनिंग सुविधाओं में विस्तार पर काम चल रहा है।

-----
लिंक शेयर करें