Breaking News

चुनाव आयोग की मजबूती बताती है कि भारत बदल रहा है- प्रो रजनीकान्‍त पाण्‍डेय

– लोकतन्‍त्र हमारी जीवन पद्धति, इसकी जड़े गहरी व मजबूत बनानी होंगी

– जनभावनाओं को नजरंदाज नहीं कर सकता है कोई राजनैतिक दल

संतकबीरनगर। अरुण कुमार सिंह

भारतीय लोकतंत्र एवं चुनाव सुधार- चुनौतियाँ एवं संभावनाएं विषय पर आयोजित दो दिवसीय राष्‍ट्रीय संगोष्‍ठी की अध्‍यक्षता कर रहे सिद्धार्थ विश्वविद्यालय कपिलवस्तु सिद्धार्थनगर के कुलपति प्रो रजनीकांत पाण्डेय ने संगोष्ठी के विषय को प्रासंगिक बताते हुए कहा कि siddarth Univercity, Siddarthnagar, Gorakhpur, HRPG collage, khalilabad, Rastriy Sangosthi, Chunav sudhar, santkabirnagar, Newskbn.inलोकतंत्र हमारी जीवन पद्धति है। इसकी जड़े और गहरी और मजबूत हो इसके लिए समाज और राजनीतिक दलों को सोचना होगा।

उन्होंने कहा कि हाल के वर्षों में तमाम विमर्शों को जन्म दिया है। अनेक बदलाव समाज और राजनीति में होते दिख रहे है। सूचना का अधिकार, न्यायिक सक्रियता और अब चुनाव आयोग का मजबूत होना यह बतलाता है कि हम बदलते भारत की तरफ बढ़ रहे हैं। यह हमारे लोकतंत्र के लिए शुभ संकेत है। उन्होंने कहा कि आज कोई भी दल जनभावनाओं को नजरअंदाज नही कर सकता। मतदाता आज सवाल पूछ रहा है।  हमारी समाजिक चेतना का विकास हो रहा है। चुनाव सुधारों के लिए आयोजित की गई संगोष्ठियों में  उन्होंने आशा जताई की इस संगोष्ठी से निकले विमर्श चुनाव सुधार और लोकतंत्र की मजबूती में मील का पत्थर साबित होंगे।

-----
लिंक शेयर करें