Breaking News

पेड न्‍यूज पर लगे रोक, आरटीआई के दायरे में हों राजनैतिक दल: प्रो. राजीव शरण

– एक प्रत्‍याशी के कई सीटों पर लड़ने पर लगाई जाए रोक

– जाति, धर्म व भाषा की राजनीति प्रभावित करती है लोकतन्‍त्र को

संतकबीरनगर। अरुण कुमार सिंह

एचआरपीजी कालेज खलीलाबाद में भारतीय लोकतंत्र एवं चुनाव सुधार- चुनौतियाँ एवं संभावनाएं विषय पर आयोजित दो दिवसीय राष्‍ट्रीय संगोष्‍ठी को सम्‍बोधित करते हुए लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रो0 राजीव शरण ने कहा कि लोकतंत्र केवल संख्या का खेल नहीं है, इसकी गुणवत्ता संख्या से ज्यादा मायने रखती है। लोकतंत्र की विश्वसनीयता और गुणवत्ता के लिये  जरूरी है कि राजनीति में साफ़ सुथरी छवि के लोगों की भागीदारी हो।siddarth Univercity, Siddarthnagar, Gorakhpur, HRPG collage, khalilabad, Rastriy Sangosthi, Chunav sudhar, santkabirnagar, Newskbn.in

संगोष्ठी के उदघाटन सत्र को सम्‍बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि संगीन आरोपों से घिरे लोगों को चुनाव लड़ने से रोकने की जरूरत है। चुनाव सुधार के लिए यह अहम होगा। प्रो शरण ने कहा कि छेत्रीय दल ,जाति आधारित राजनीति और भाषाई राजनीति ने देश की राजनीति को प्रभावित किया है। इससे लोकतंत्र कमजोर होगा। लोगों को साथ आने की जरूरत है।  उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की मजबूती के लिए व्यवस्था का पारदर्शी व् उत्तरदायी होना जरूरी है। राजनितिक दलों को इस पर गंभीरता से सोचने की जरूरत है। उन्होंने चुनाव सुधार के लिए दलों को आर टी आई के दायरे में लाने की वकालत की और चुनाव में पेड न्यूज़ पर अंकुश लगाने की बात कही। प्रो राजीव शरण ने चुनाव सुधार के लिए अपने सुझाव देते हुए कहा कि एक प्रत्यासी का अनेक सीटों से लड़ने पर रोक होनी चाहिए। साथ ही साथ लोक लुभावन घोषणओं पर भी रोक लगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि चुनाव सुधार के लिए केवल कानून बनाने से समस्या का समाधान नहीं होगा बल्कि परिवर्तन के लिए सोच बदलने की जरूरत है।

-----
लिंक शेयर करें