Breaking News

लास बेगास हमला : मौत की तड़तड़ाहट को आतिशबाजी समझ बैठे लोग

लास वेगास: अमरीका के लास वेगास शहर के मंडले बे कसीनो में लोग नाच-गाकर अपने साथियों के साथ जश्न मना रहे थे। इसी बीच गोलियों की तड़तड़ाहट शुरू होती है, जिसे जश्न की आतिशबाजी समझ लोग अपनी धुन में मगन बने रहते हैं। इसी बीच उनके बीच के कुछ लोग खून से लहूलुहान होकर दौड़ते दिखाई देते हैं। वहीं कुछ लोग लाशों में तब्दील होकर नीचे फर्श पर गिर जाते हैं। जब यह नजारा देखा तो भगदड़ मच गई और लोग इधर-उधर दौड़कर अपनी जान बचाने में जुट गए।

मौके पर मौजूद 36 वर्षीय कोडेक याजी ने बताया कि वह अपनी गर्लफ्रेंड के साथ कंसर्ट में गया था। कंसर्ट खत्म होने जा रहा था, तभी तड़ातड़ की आवाज सुनाई दी। सभी को लगा आतिशबाजी की गई है, लेकिन जैसे ही लोग घायल होने लगे, सभी भागकर खुद को बचाने में लग गए। गोलीबारी के दौरान मौके पर 40 हजार से ज्यादा लोग मौजूद थे। ओपन-एयर कंसर्ट होने के कारण भी संगीत प्रेमियों की संख्या ज्यादा रही। एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, मेरे साथी को गोली लगी, उसके शरीर से खून बह रहा था, तभी मुझे अहसास हुआ कि हमलावर भीड़ की तरफ आ रहा है। सभी लोग नीचे लेट गए। कुछ ने नजदीकी होटल और बेसमेंट में शरण ली।

बेसमेंट में छिपकर बचाई जान
प्रत्यक्षदॢशयों के मुताबिक यह ऑटोमैटिक बंदूक की आवाज थी। वहां मौजूद प्रत्यक्षदॢशयों ने कहा कि कंसर्ट वेन्यू पर गोलियों की बौछार हो रही थी। लोग इधर-उधर भाग रहे थे। उनमें से कुछ लोग ट्रोपिकाना होटल-कसीनो के बेसमेंट में छिप गए। घटनास्थल पर पहुंचे कुछ ऑफिसर ने अपनी गाडिय़ों के पीछे से निशाना साधा, तो कुछ हथियारों के साथ मांडले बे होटल और कसीनो की तरफ बढ़े। फायरिंंग की सूचना के बाद लास वेगास स्ट्रिप और इंटरस्टेट 15 के ज्यादातर हिस्से को बंद करा दिया गया। स्थानीय प्रशासन ने मैकैरेन इंटरनेशनल एयरपोर्ट को आने वाली फ्लाइट्स को डायवर्ट कर दिया है।

-----
लिंक शेयर करें