Breaking News

इस्‍लामिक आतंकवाद का धरती से सफाया करेंगे ट्रम्‍प

वॉशिंगटन: डोनाल्ड ट्रंप ने अमरीका के 45वें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली और इस मौके पर उन्होंने कहा कि उनका प्रशासन दुनिया से ‘कट्टरपंथी इस्लामी आसतंकवाद’ का सफाया करेगा। उन्होंने अमरीकियों की नौकरियां बहाल करने का भी वादा किया। ट्रंप ने कहा, ‘‘हम पुराने गठजोड़ों को नई ताकत देंगे और एक नया स्वरूप देंगे और सभ्य दुनिया को कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद के खिलाफ एकजुट करेंगे। हम इस आतंकवाद का धरती से सफाया करेंगे।’’ लोगों की उम्मीदों को ध्यान में रखते हुए ट्रंप ने कहा कि ‘अमरीका  फर्स्ट’ (सबसे पहले अमरीका) उनकी सरकार का मूलमंत्र होगा और सत्ता वॉशिंगटन से जनता को हस्तांतरित की जाएगी।
Trump, america, pakistan, china, india, newdelhi, islamic aatankwad, lucknow, gorakhpur, khalilabad, santkabirnagar
ट्रंप (70) ने नैशनल मॉल में सर्द मौसम के बीच करीब 8 लाख लोगों के सामने शपथ ली।राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप ने हिलेरी क्लिंटन को पराजित किया था।उन्होंने अब्राहम लिंकन की बाइबल पर अपन बायां हाथ रखकर पद की शपथ ली और इसके साथ ही वह उस कुर्सी पर आसीन हो गए जो दुनिया में सबसे शक्तिशाली कही जाती है। प्रधान न्यायाधीश जॉन रॉबर्ट्स ने उनको शपथ दिलाई। राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद ‘यूएस कैपिटोल’ से दिए अपने पहले संबोधन में ट्रंप ने देशवासियों से वादा किया कि देश का फिर से ऐसा निर्माण किया जाएगा कि वह ‘वापस सपने संजो सके’ और वहीं ‘अमरीका फस्ट’ उनके शासन का मूलमंत्र होगा।

ट्रंप ने ‘धरती से कट्टरपंथी इस्लामी आंतकवाद का सफाया करने’ का संकल्प लिया और दुनिया को विश्वास दिलाया कि उनकी सरकार दूसरे देशों पर अपना शासन नहीं थोपेगी। उन्होंने अपने 16 मिनट के संबोधन में कहा, ‘‘हम साथ मिलकर अमरीका और दुनिया की कार्यप्रणाली तय करेंगे जो आने वाली कई सालों के लिए होगी। ट्रंप ने कहा कि अमेरिका की राजधानी में कुछ लोगों ने लंबे समय तक सरकार का फायदा उठाया, लेकिन लोगों को कीमत चुकानी पड़ी। वॉशिंगटन समृद्ध हो गया, लेकिन लोगों ने इसकी समृद्धि को साझा नहीं किया।

ट्रंप ने कहा, ‘‘नेता समृद्ध हुए, लेकिन लोगों की नौकरियां चली गईं और फैक्टरियां बंद हो गईं. प्रशासनिक प्रतिष्ठान ने खुद की रक्षा की, लेकिन हमारे देश के नागरिकों की रक्षा नहीं की। उनकी जीत आपकी नहीं रहीं,उनकी खुशहाली आपकी खुशहाली नहीं रही। जब उन्होंने हमारे देश की राजधानी में जश्न मनाया तो पूरे देश में संघर्ष कर रहे परिवारों के लिए जश्न मनाने के लिए बहुत मामूली चीजें थीं।’’ उन्होंने बंदूक की हिंसा, ड्रग्स और अपराध सहित देश के सामने खड़ी समस्याओं का हल करने का संकल्प लेते हुए कहा, ‘‘हम वॉशिंगटन डीसी से सत्ता का हस्तांतरण कर रहे हैं और इसे अमरीकी जनता के हाथों में सौंप रहे हैं।’’

बराक ओबामा की मौजूदगी में ट्रंप ने इस बात पर जोर दिया, ‘‘अमरीकी संहार यहीं रूकेगा और अभी रूकेगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ये सारे बदलाव यहीं और अभी से हो रहे हैं क्योंकि यह क्षण आपका क्षण है।’’ अमरीका के नए राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘खोखली बातों का दौर अब बीत गया, काम का समय आ गया है।’’ ट्रंप ने कहा कि यह मायने नहीं रखता कि सरकार पर किस पार्टी का नियंत्रण है, बल्कि यह मायने रखता है कि क्या सरकार पर जनता का नियंत्रण है। उन्होंने कहा, 20 जनवरी, 2017 को एक ऐसे दिन के तौर पर याद किया जाएगा जब जनता फिर से देश की शासक बन गई।

ट्रंप ने कहा कि उनका प्रशासन दो साधारण नियमों का अनुसरण करेगा बाय अमरीकन, हायर अमरीकन- अमरीकी उत्पाद खरीदो, अमरीकी को नौकरी दो। उनके इस वाक्य पर पूरा नैशनल मॉल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। उनसे पहले माइक पेंस ने उप राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली। शपथ ग्रहण समारोह में बराक ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल ओबामा, पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश एवं जिमी कार्टर और बिल क्लिंटन, हिलेरी क्लिंटन भी मौजूद थे।

-----
लिंक शेयर करें