Breaking News

संतकबीरनगर के युवा का देशी स्‍टार्टअप McPaa’s दे रहा विदेशी कम्‍पनियों को मात

  • कानपुर व लखनऊ में पिज्‍जा हट और डामिनोज को जैसी कम्‍पनियों को दे रहा है कड़ी टक्‍कर
  • किसानों को जोड़ते हुए विदेशी कम्‍पनियों के समानान्‍तर देशी चीज परोसने की है मुहिम

संतकबीरनगर। न्‍यूज केबीएन

विदेशी कम्‍पनियों के द्वारा खोले गए पिज्‍जा हट, मैकडोनाल्‍ड और डामिनोज जैसे स्‍टोर्स उनके McPaa’s के उत्‍पादों के आगे फीके पड़ गए हैं। जहां उनके स्‍टोर्स हैं वहां पर ये बहुराष्‍ट्रीय कम्‍पनियों के स्‍टोर्स का बुरा हाल है। उनके पास विदेशी कम्‍पनियों जैसी पूंजी तो नहीं है, लेकिन जज्‍बा है कि वे पूरे देश में अपने देशी स्‍टार्टअप McPaa’s ( मैक्‍पाज ) के स्‍टोर्स खोलें। मात्र साल भर पुराने शुरु हुए इस स्‍टार्टअप McPaa’s के कानपुर और लखनऊ में उन्‍होने पांच स्‍टोर्स खोल लिए हैं, साथ ही लखनऊ में छठवें स्‍टोर की तैयारी में जुटे हुए हैं।

मैक पा के नए स्‍टोर शीघ्र ही खुलेंगे

यह कारनामा कर दिखाया है प्रदेश के छोटे से जनपद संतकबीरनगर के खलीलाबाद के निवासी 25 वर्षीय युवा उद्यमी अनूप चौरसिया ने । भाभा इंस्‍टीच्‍यूट आफ टेक्‍नालाजी कानपुर से 2014 में इलेक्‍ट्रानिक एण्‍ड कम्‍यूनिकेशन ट्रेड से पास आउट अनूप चौरसिया शुरुआती दौर से ही कुछ नया करने के लिए उत्‍साहित रहते हैं। अनूप के अन्‍दर तकरीबन डेढ़ साल पहले McPaa’s (मैक्‍पाज) खोलने का विचार आया। 11 मार्च 2018 को उनके विचार ने मूर्त रूप लिया और कम्‍पनी का पहला स्‍टोर खोला। इसके बाद निरन्‍तर प्रगति के नए पायदान स्‍थापित किए। अनूप का कहना है कि 100 से लेकर 200 प्रतिशत लाभ पर व्‍यापार करने वाली बहुराष्‍ट्रीय कम्‍पनियां आज किसानों के उत्‍पादों को औने पौने दामों पर खरीद रही हैं। उन्‍हें उनकी कोई चिन्‍ता ही नहीं है। उनकी कम्‍पनी McPaa’s आगे आने वाले समय में किसानों का आलू , राइस , सब्जी और भी आवश्यकता की चीजें मार्केट रेट से 15- 40 प्रतिशत  बढ़े हुए दाम पर खरीदेंगे। साथ ही किसानों अपनी कम्‍पनी के जरिए उत्‍पादन में जुड़े किसान भाइयों का ‘किसान कार्ड’ भी बनाएंगे जिससे कंपनी का बिज़नेस जितना अच्छा बढ़ेगा उसी के हिसाब से किसानों को प्रोत्‍साहन राशि भी दी जाएगी। यह प्रोत्साहन राशि सीधे किसानों के एकाउंट क्रेडिट करने के साथ ही उनके विकास में भी साझीदार बनेगी। McPaa’s Food & Services Pvt. Ltd पूरी तरह से किसानों के हितों को लेकर संकल्पित है। आगे आने वाले समय में एक बेहतर प्‍लानिंग के तहत कार्य किया जाएगा। ताकि कम्‍पनी का निरन्‍तर उत्‍थान हो और हम किसानों की प्रगति में कदम से कदम मिलाकर चल सकें।

McPaa’s के पास है 150 से अधिक उत्‍पादों की श्रृंखला

विशुद्ध देशी स्‍टार्टअप McPaa’s के पास 150 से भी अधिक उत्‍पादों की एक श्रृंखला है। इन उत्‍पादों में बर्गर, पिज्‍जा, डोसा, कटलेट, वेज रोल, चिकन रोल के साथ ही अन्‍य शाकाहारी व मांसाहारी उत्‍पाद हैं। एक मनुष्‍य के दैनिक जीवन में बहुराष्‍ट्रीय कम्‍पनियों के द्वारा बेचे जाने वाले विभिन्‍न प्रकार के उत्‍पादों से भी अधिक उत्‍पाद McPaa’s के हैं।

साल भर में 5 स्‍टोर, 250 से अधिक का लक्ष्‍य

अनूप ने अपने स्‍टार्टअप McPaa’s के साल भर में ही लखनऊ और कानपुर में 5 स्‍टोर खोले हैं। अगले पांच साल में उनका लक्ष्‍य देश के प्रमुख शहरों के साथ प्रदेश के हर शहर में अपना एक स्‍टोर खोलने की है। आगामी 12 जुलाई को ठाकुरगंज लखनऊ में उनके एक नए स्‍टोर का उद्घाटन है। अपनी जन्‍मभूमि खलीलाबाद में उनकी योजना एक नया स्‍टोर खोलने की है। साथ ही साथ गोरखपुर, वाराणसी, बस्‍ती समेत अन्‍य छोटे – बड़े शहरों में McPaa’s अपने स्‍टोर्स लांच करेगा।

 

अनूप चौरसिया : संक्षिप्‍त परिचय

अनूप चौरसिया

खलीलाबाद के मेंहदावल रोड पर मोटर पार्ट्स का व्‍यापार करने वाले रामनारायण चौरसिया के पुत्र अनूप चौरसिया ने अपनी प्राथमिक शिक्षा मेहदावल रोड पर स्थित बॉस मेमोरियल पब्लिक स्‍कूल खलीलाबाद से की। छठवीं से आठवीं तक की शिक्षा शिक्षा निकेतन स्‍कूल खलीलाबाद से ली। वर्ष 2008 में एचआर इण्‍टर कालेज से हाईस्‍कूल तथा 2010 में यहीं से इण्‍टरमिडिएट की परीक्षा पास करने के बाद भाभा इंस्‍टीच्‍यूट आफ टेक्‍नालाजी कानपुर से बीटेक के चौथे वर्ष में ही उन्‍होंने अपने दादा रामप्‍यारे व राजदेई देवी के नाम पर आरपीआरडी ग्रुप साफ्टवेयर एण्‍ड वेब डिजाइनिंग प्राइवेट लिमिटेड साफ्टवेयर कम्‍पनी की शुरुआत की। यह कम्‍पनी 2017 में लिमिटेड कम्‍पनी बनी। इसकी शाखाएं फोकस मन्‍त्रा ( 2015 ) में बनी जिसमें प्रतियोगिता परीक्षाओं के वेब सीरीज जारी होते थे। वहीं 2015 में ही बस्‍ती जनपद के मुण्‍डेरवा में आर के इंस्‍टीच्‍यूट आफ कम्‍प्‍यूटर तथा मैसेज प्‍वाइंट की स्‍थापना की। Daddy24×7.in की स्‍थापना की। 11 मार्च 2018 को उन्‍होने McPaa’s (मैक्‍पाज) की स्‍थापना करते हुए कानपुर में McPaa’s (मैक्‍पाज) का अपना पहला स्‍टोर खोला। तभी से आज तक वे निरन्‍तर McPaa’s (मैक्‍पाज) के साथ ही अपनी अन्‍य सहयोगी कम्‍पनी को निरन्‍तर आगे बढ़ाने में लगे हुए हैं। अनूप के निरन्‍तर आगे बढ़ने में उनके दादा रामप्‍यारे चौरसिया जो प्राध्‍यापक थे, उन्‍होने विज्ञान व गणित के प्रति उनके अन्‍दर अभिरुचि जगाई। उनके परिवार के अन्‍य लोगों ने भी उनके उत्‍थान में बहुत बड़ी भूमिका का निर्वहन किया। बड़ी बहन गुडि़या चौरसिया व छोटी बहन गीता चौरसिया के साथ ही भाइयों पवन और अरुण चौरसिया तथा उनकी भाभी ने भी उन्‍हें सम्‍बल देने का काम किया तथा निरन्‍तर दे रहे हैं।

-----
लिंक शेयर करें