Breaking News

जानें ऐसा क्‍या हुआ कि अकेले ही चल पड़ा हाथी ….. ( देवीलाल गुप्‍त की खास रिपोर्ट )

– पागल नहीं था हाथी बल्कि खोज रहा था महावत को

– ज्‍यों ही महावत को देखा, तुरन्‍त ही रुक गया हाथी  

संतकबीरनगर,  न्‍यूज केबीएन ।

बखिरा थानाक्षेत्र के गोनहाघाट के निकट जंगल में अकेला हाथी देखकर आसपास के लोगों में हड़कंप मच गया। जगह-जगह पागल हाथी कहकर अफवाहे फैलने लगी। इस सूचना से लोग सहम उठे। हाथी जैसे ही अठखेलियां करती हुई अकेले गोनहाघाट से बढ़याबाबू गांव की तरफ बढ़ी, तो सिवान में काम करने वाले मजदूर व किसानो ने भागना शुरू कर दिया। धीरे-धीरे पूरे क्षेत्र में पागल हाथी की चर्चा जोरो पर होने लगी।
किसी ने इसकी सूचना पुलिस अधिकारी को दी। जिसपर ए एसपी असित कुमार श्रीवास्तव ने पुलिस व वन विभाग के कर्मियों को तत्काल मौके पर पूरी व्यवस्था से पंहुचने का निर्देश दिया।

जाने क्या है पूरा मामला

सोमवार को महावत हाथी को लेकर चारा काटने जंगल में गया था। महावत अपने साथ दो सहयोगियों को भी ले गया था। लेकिन जब साथी चारा काटने लगे, तो महावत कुछ काम से वहां से निकल गया। कुछ देर बाद जब हाथी की नजर में महावत नही दिखा तो हाथी अकेले बढ़याबाबू गांव की तरफ बढ़ चली। जिसपर लोग उसे अकेला देख पागल हाथी समझ बैठे। और सूचना पर वन विभाग के अधिकारी भी पंहुच गए। लेकिन जब इसकी सूचना हाथी मालिक व महावत के पास पंहुची तो तत्काल महावत असगर अली भी पंहुच गया। हाथी ने ज्यों ही महावत को देखा तो रुक पड़ी। इसके बाद हाथी बिल्कुल मस्तमौला होकर महावत के साथ चल पड़ी। ग्रामीण भी पीछे पीछे साथ चल पड़े। हाथी बिल्कुल शांत भाव से सभी के साथ चलती दिखी। यह हाथी गोरखपुर जनपद के सोनौरा बलुआ गांव के निवासी रामआसरे मिश्र की है। महावत ने बखिरा थानाक्षेत्र के भगवानपुर गांव में हाथी को लेकर अपने रिस्तेदारी में आया था।

-----
लिंक शेयर करें