Breaking News

ख़लीलाबाद नगर पालिका अध्यक्ष पद की पुनः होगी मतगणना (विजय गुप्ता की रिपोर्ट)

नगर पालिका अध्यक्ष पद की पुनः होगी मतगणना

– अपर जनपद एवं सत्र न्यायाधीश की कोर्ट ने सुनाया फैसला ।

न्यूज़ केबीएन, संतकबीरनगर : नगर पालिका परिषद खलीलाबाद के अध्यक्ष पद की पुनः मतगणना करने का आदेश अपर जनपद एवं सत्र न्यायाधीश दीपकांत मणि की कोर्ट ने शनिवार को दिया है । अध्यक्ष पद के चुनाव के खिलाफ जगत जायसवाल ने याचिका कोर्ट में प्रस्तुत किया था । एडीजे की कोर्ट ने जिला प्रशासन को तीस दिन के अंदर पुनः मतगणना करा करके न्यायालय को अवगत कराने का आदेश पारित किया है । इस दौरान अध्यक्ष श्याम सुन्दर वर्मा अपने पद यथावत बने रहेंगे ।
खलीलाबाद नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष पद का चुनाव परिणाम एक दिसंबर 2017 को घोषित हुआ था । इस चुनाव में भाजपा के प्रत्याशी श्यामसुंदर वर्मा विजयी घोषित किए गए थे । दूसरे स्थान पर रहे बसपा प्रत्याशी जगत जायसवाल ने चुनाव याचिका दाखिल किया था । उनका कथन था कि चुनाव के लिए 27 अक्टूबर 2017 को अधिसूचना जारी की गई थी । नामांकन की तिथि 1 नवंबर से 7 नवंबर, जांच आठ नवंबर, नामांकन वापसी 10 नवंबर, मतदान की तिथि 26 नवंबर और मतगणना की तिथि एक दिसम्बर नियत थी । याचिका में कथन किया गया कि चुनाव में सत्ता पक्ष के सांसद विधायक ने पूरा जोर लगाकर प्रशासन पर दबाव बनाया था कि किसी भी तरह चुनाव जीतना है । इसके लिए हर तरह के हथकंडे अपनाए गए । फर्जी वोट डलवाए गए । अल्पसंख्यक वर्ग के मतदाताओं पर दबाव बना करके चुनाव में भाग लेने से रोका जा रहा था । मतगणना के दूसरे चक्र में 2500 मतों के बढ़त को कम करके 534 मत का बढ़त दिखाया गया । विरोध करने पर लाठी चार्ज करवा करके गणना एजेंटों को खदेड दिया गया और याची के मतों को श्याम सुन्दर वर्मा के मतों में जोड़ कर अनियमित तरीके से विजयी घोषित कर दिया गया । श्याम सुन्दर वर्मा और सरकार की तरफ से जबाबदेही प्रस्तुत करके सारे कथनों का खण्डन किया गया । साथ ही कहा गया कि पूरी चुनाव प्रक्रिया पारदर्शी तरीके से सम्पन्न कराई गई है । मतगणना सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में हुई है । कोई अनियमितता नहीं हुई है । याचिकाकर्ता के अधिवक्ता चन्द्र भूषण मणि त्रिपाठी ने बताया कि मतदान और मतगणना के दौरान व्यापक पैमाने पर अनियमितता की गई थी । कोर्ट के समक्ष सारे तथ्य रखे गए हैं । दोनों पक्षों द्वारा प्रस्तुत साक्ष्यों अभिलेखों और तर्कों का कोर्ट ने गहन परिशीलन किया । एक सप्ताह तक अनवरत पक्षों की बहस सुनने के पश्चात एडीजे दीपकांत मणि की कोर्ट ने तीस दिन के अंदर पुनः मतगणना करने का आदेश जिला प्रशासन को दिया है । इस बीच श्याम सुन्दर वर्मा यथावत अपने पद पर बने रहेंगे ।

-----
लिंक शेयर करें