Breaking News

जयशंकर प्रसाद की जयन्‍ती मनाई गई, प्रदर्शनी का हुआ आयोजन

लखनऊ , न्‍यूज केबीएन।

पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल के मण्डल रेल प्रबन्धक कार्यालय के बहुउददे्शीय हाल में मण्डल रेल प्रबन्धक श्री आलोक सिंह की अध्यक्षता में साहित्यकार जय शंकर प्रसाद की जयन्ती के अवसर पर विचार गोष्ठी एवं तकनीकी संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

NE Railway, lucknowm gorakhpur, newskbn, santkabirnagar, chekइस अवसर पर मण्डल रेल प्रबन्धक ने मुख्य अतिथि लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रोफेसर श्री कृष्णा श्रीवास्तव को पुष्प गुच्छ देकर उनका स्वागत किया । तत्पश्चात मुख्य अतिथि ने माॅ सरस्वती एवं जय शंकर प्रसाद के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलित किया।  इसके उपरांत राजभाषा अधिकारी शैलेष मिश्र ने सभी का स्वागत संबोधन किया एवं मुख्य अतिथि का परिचय एक प्रख्यात हिन्दी समर्थक, साहित्य एवं कला मर्मज्ञ के रूप में कराया। इसके पश्चात अपर मुख्य राजभाषा अधिकारी एवं अपर मण्डल रेल प्रबन्धक श्री मुकेश ने अधिकारियों एवं कर्मचारियों को हिन्दी के प्रति अभिरूचि उत्पन्न करने हेतु हिन्दी के प्रति सकारात्मक माहौल उत्पन्न करते हुए समस्त कार्य हिन्दी में करने का संकल्प लेना चाहिए।

NE Railway, lucknowm gorakhpur, newskbn, santkabirnagar, chekतदोपरान्त मण्डल रेल प्रबन्धक ने अपने अध्यक्षीय सम्बोधन में कहा कि जयशंकर प्रसाद जी की रचनाओं से हमेें सकारात्मक लक्ष्य और प्रयास से हिंदी के प्रयोग में एक नई दिशा प्राप्त होगी। उनकी रचनाऐं हमें हर्ष और चेतना का संचार कराती है। मुख्य अतिथि ने अपने सम्बोधन में कहा कि जयशंकर प्रसाद जी छायावाद के एक प्रख्यात साहित्यकार थे। उनकी रचनाओं के माध्यम से समाज में व्याप्त विभिन्न विषमताओं को दूर करने का मार्ग प्राप्त होता है। उन्होने उनके व्यक्तिव्य तथा उनके साहित्य पर चर्चा करते हुए प्रकाश डाला।

NE Railway, lucknowm gorakhpur, newskbn, santkabirnagar, chekइसके पूर्व राजभाषा विभाग द्वारा आयोजित राजभाषा प्रदर्शनी में मण्डल के सभी विभागों द्वारा हिंदी के प्रयोग एवं प्रगति को प्रदर्शनी के माध्यम से बहुउददे्शीय हाल में दर्शाया गया। मण्डल रेल प्रबन्धक श्री आलोक सिंह ने राजभाषा प्रदर्शनी का उद्घाटन कर प्रर्दशनी का अवलोकन किया । जिसमें सर्वाेत्तम प्रदर्श का प्रथम पुरस्कार परिचालन एवं संरक्षा विभाग को तथा द्वितीय पुरस्कार याॅत्रिक(समाडि) विभाग को तथा तृतीय पुरस्कार चिकित्सा विभाग को प्रदान किया गया।  इस अवसर पर आयोजित  श्तकनीकी संगोष्ठीश् में आमंत्रित वक्ता मुख्य लोको निरीक्षक रविन्द्र सिंह एवं शक्ति नियंत्रक ज्ञानेन्द्र दीक्षित ने ’’सिगनल को खतरे की दशा में पार’ करना’ विषय पर व्याख्यान दिया।  इस अवसर पर मण्डल के समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे ।

NE Railway, lucknowm gorakhpur, newskbn, santkabirnagar, chek

-----
लिंक शेयर करें