Breaking News

समय से चेता होता वन विभाग तो नहीं जाती अमीना की जान

-कौन है इस मौत का जिम्मेदार वन विभाग या बंदर

अनिल यादव, बेलहर।

जिले के दुधारा थानाक्षेत्र का कैथवलिया गांव में इन दिनों बंदरों के आतंक से पूरा गांव खौफजदा है । जिसको लेकर स्थानीय ग्रामीणों ने वन विभाग से इसकी कई बार शिकायत की इसके बावजूद भी वन विभाग के अधिकारियों ने इस पर तवज्जो नहीं दिया दिया जिसका नतीजा ये निकला की आज एक युवती की जान चली गई।

Bandar, yuvti, dudhara, tappa ujiyar, santkabirnagar, kaithwaliya, semriyawa, newskbn

यही है वह बन्‍दर जिसने दिया युवती को धक्‍का

बात दे कि संतकबीर नगर जिले के  दुधारा थानाक्षेत्र के कैथवलिया गांव की जहां के स्थानीय ग्रामीण महीनों से काले बंदरों के आतंक की वजह से खौफ के साए में जी रहे हैं। यहां पर बन्दर गांव वालों को दौड़ाकर काट लेते है। ग्रामीणों की माने तो उन्होने इसकी शिकायत कई बार वन विभाग से की लेकिन वन विभाग लापरवाह बना रहा। वन विभाग की लापरवाही की वजह से गांव की ही 22 वर्षीय अमीना खातून की जान चली गई ।  अमीना खातून सुबह करीब 11 बजे अपने छत पर कपडा फ़ैलाने गई थी की तभी काले बन्‍दर ने उसे छत से  धक्‍का दे दिया। वहीँ ग्रामीण गुस्से में हैं कि अगर समय रहते वन विभाग मामले की गंभीरता को समझकर मामले में तत्परता दिखाई होती तो शायद आज आमिना भी जिंदा होती। फिलहाल अब देखते वाली बात होगी की आमिना की मौत के बाद वन विभाग की नींद टूटती है या अभी भी किसी और हादसे के इंतज़ार में है वन विभाग।

-----
लिंक शेयर करें