Breaking News

डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी ने दर्जनों गांवों में पहुंचकर बांटा पीडि़तों का दुख ( देवीलाल गुप्‍त की रिपोर्ट )

  • विपदा पीडि़तों को दिया आर्थिक मदद कर विपदा कम की
  • दुखी लोगों को सम्‍बल देकर उनका किया उत्‍साहवर्धन

संतकबीरनगर, न्‍यूज केबीएन ।

संतकबीरनगर में समाजसेवा का एक सशक्‍त हस्‍ताक्षर बन चुके सूर्या इण्‍टरनेश्‍नल एकेडमी के निदेशक व  प्रमुख समाजसेवी डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी ने रविवार को जिले के विभिन्‍न गांवों में पहुंचकर दर्जनों लोगों का दुख दर्द बांटा। साथ ही उनको सम्‍बल देकर उनका उत्‍साहवर्धन भी किया। डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी जैसे व्‍यक्तित्‍व को अपने बीच पाकर लोगों का कष्‍ट खुद ब खुद कम हो गया। समाजसेवा में बढ़ चढ़कर हिस्‍सा लेने वाले डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी के कार्यों की लोगों ने मुक्‍त कण्‍ठ से सराहना की।

खजुहां गांव में मार्ग दुर्घटना में मरे युवक विन्‍ध्‍याचल यादव के घर पहुंचे डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी व उनकी टीम के सदस्‍यगण

खजुहां गांव में मार्ग दुर्घटना में मरे युवक विन्‍ध्‍याचल यादव के घर पहुंचे डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी व उनकी टीम के सदस्‍यगण

समाजसेवी डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी रनियापुर गांव में रहने वाले शंकर यादव के घर पहुंचे ।  शंकर यादव के पिता जी की कुछ दिन पूर्व बीमारी के चलते मौत हो गई थी पीड़ित परिवार से मुलाकात करते हुए पीड़ित परिवार के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करते हुए हर संभव मदद देने का आश्वासन किया। शंकर यादव के परिवार के लोगों के साथ ही मोहम्‍मदपुर कठार गांव के प्रधान भी इस दौरान मौजूद रहे तथा उन्‍होने अपने क्षेत्र में डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी का स्‍वागत करने के साथ ही हमेशा साथ रहने का आश्‍वासन दिया। वहां से डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी का काफिला कटका गांव में पहुंचा। वहां के निवासी रामउग्रह सिंह उर्फ मेघू सिंह को लकवे का अटैक हो गया था। उनके यहां पहुंचकर डॅा उदय प्रताप चतुर्वेदी ने उनका हाल चाल लिया तथा कहा कि वे शीघ्र ही स्‍वस्‍थ हों। उनको उन्‍होने आर्थिक सहायता दी तथा आगे भी जरुरत पड़ने पर सहायता प्रदान करने का आश्‍वासन दिया। विश्‍वनाथपुर, डुमरी तथा अन्‍य गांवों से होता हुआ डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी का कफिला खजुहा गांव में पहुंचा। वहां के एक युवक विन्‍ध्‍याचल यादव की दो दिन पूर्व ही मार्ग दुर्घटना में मौत हो गई थी। उनके परिवार में युवक के रुप में केवल एक व्‍यक्ति ही बचा था। जबकि दो भाइयों की पहले ही मौत हो गई थी। पूरे परिवार की जिम्‍मेदारी उक्‍त युवक पर ही आ पड़ी थी। विन्‍ध्‍याचल के दो बच्‍चे भी हैं। उसके उपर बढ़ते हुए आर्थिक दबाव को देखते हुए डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी ने तुरन्‍त ही 10 हजार रुपए की आर्थिक मदद की तथा यह आश्‍वासन दिया कि आगे भी जब जरुरत पड़ेगी तो वह उनके परिवार के साथ रहेंगे। डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी के साथ राजू यादव, राम बहादुर सिंह ,त्रिपुरारी सिंह, रविन्द्र यादव, सौरव सिंह, बलराम यादव,निहाल चन्‍द्र पाण्डेय, अंकित पाल, आलोक उपाध्याय, आनंद ओझा, संदीप सिंह, राजा सिंह, सुशील पाण्‍डेय  सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

कटका गांव में लकवा के शिकार मेघू सिंह के घर पहुंचकर हाल चाल लेते हुए डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी

रनियापुर गांव में शंकर यादव के घर पहुंचे हुए डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी तथा उनकी टीम के लोग

रनियापुर गांव में शंकर यादव के घर पहुंचे हुए डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी तथा उनकी टीम के लोग

 

-----
लिंक शेयर करें