Breaking News

खलीलाबाद में श्रीराम शोभायात्रा में दलीय व सांगठनिक बन्दिशों को तोड़कर शामिल हुए लोग

– आर्ट आफ लिविंग की जिला इकाई के सदस्‍यों ने दिखाया पूरा उत्‍साह

– इनर ह्वील क्‍लब की डॉ सोनी सिंह दर्जनों महिलाओं के साथ रहीं शामिल  

संतकबीरनगर, न्‍यूज केबीएन ।

नगर में निकाली गई श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण कार्य में समर्पण निधि हेतु शोभायात्रा में विभिन्न हिंदू संगठनों ने बढ़-चढ़कर के हिस्सा लिया । शोभायात्रा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल, भारतीय जनता पार्टी, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, हिंदू जागरण मंच, गायत्री परिवार, आर्य समाज, आर्ट आफ लिविंग की जिला इकाई, प्रभा सेवा समिति, एक नई आशा, उद्योग व्यापार मंडल, भारतीय किसान संघ, सेवा भारती, मिशन मोदी समेत अन्य लोगों ने अपना उल्लास दिखाया।

इनर ह्वील क्‍लब की डॉ सोनी सिंह दर्जनों महिलाओं के साथ हुई शामिल

इस शोभायात्रा में प्रभा ग्रुप के संरक्षक विनय कुमार चतुर्वेदी ने अपने सैकड़ो सदस्यों व समर्थकों के साथ शामिल हुए, आर्ट आफ लिविंग के अमित जैन जी ने रामभक्तो के लिए टी स्टाल की व्यवस्था कर सभी सदस्यों के साथ मौजूद रहें। इनरव्हील के तरफ से डा. सोनी सिंह दर्जनों महिलाओं के साथ शोभायात्रा में शामिल रहीं। इस मौके पर शिशु राय, विकास सिंह, गोलू सिंह, रितेश त्रिपाठी, नवीन गुप्ता, सोनू राय, विकास गुप्ता, समेत सैकड़ो लोग जुलूस के साथ जय श्रीराम के नारा लगाते हुए मौजूद रहें।

हिन्‍दुओं के जोश के आगे बौना पड़ा बैजनाथ का माइक

जनपद में कोई भी कार्यक्रम होता है तो बैजनाथ का माइक प्रयोग में आता है। लेकिन स्थिति यह रही कि हिन्‍दुओं के जोश के आगे बैजनाथ का माइक भी फीका पड़ गया। हिन्‍दू जनमानस की सिंह गर्जना किसी माइक की मोहताज नहीं दिखाई पड़ रही थी।

राहगीरों ने भी लगाए जय श्री राम के नारे

भगवान श्री राम की यह यात्रा जहां से भी होकर गुजरी, रास्‍ते में जा रहे लोगों ने भी जय श्री राम के नारे लगाए। क्‍या बच्‍चे और क्‍या बूढ़े। सभी के अन्‍दर एक जोश दिखाई दे रहा था। आलम तो यह था कि जिसने भी इस जुलूस को देखा उसके मुंह से बरबस ही जय श्री राम के नारे निकल पड़े।

स्वत: स्‍फूर्त ढंग से उमड़ा था जनमानस

इस जुलूस की सबसे बड़ी विशेषता यह रही कि जुलूस में लोग स्‍वत: स्‍फूर्त ढंग से आए हुए थे। कोई किसी को बुलाने के लिए नहीं गया था। बल्कि सभी लोग अपने आप ही पहुंचे थे। सभी लोगों के अन्‍दर एक जोश था, एक जुनून था, जो उन्‍हें यहां पर अनायास ही खींच लाया था।

विभिन्‍न संगठनों  की कुछ तस्‍वीरें ….

-----
लिंक शेयर करें