Breaking News

ब्लूमिंग बड्स में बड़ी धूमधाम से मनाया गया गणतंत्र दिवस, छात्राओं ने पेश किया एकता और अखंडता की झांकी

ब्लूमिंग बड्स में बड़ी धूमधाम से मनाया गया गणतंत्र दिवस, छात्राओं ने पेश किया एकता और अखंडता की झांकी

– ध्वजारोहण कर युवा नेतृत्वकर्ता वैभव चतुर्वेदी ने अपने संबोधन में जनपद के युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने जोर दिया है।

वैभव चतुर्वेदी ने कहा कि भारत एक ऐसा राष्ट्र है जहाँ ‘अनेकता में एकता’ मनाई जाती है। उन्होंनेे युवाओं सेे अपील करते हुुए कहा कि खुद का उत्थान नहीं समाज का उत्थान करने वाले जननेता का निर्माण करें।

संतकबीरनगर : 72वां गणतंत्र दिवस जिले के प्रतिष्ठित स्कूल ब्लूमिंग बड्स में मंगलवार को श्रद्धा एवं उल्लास के साथ मनाया गया। यहां पर छात्राओं द्वारा भारत का मानचित्र बनाकर तिरंगे की तरह से सजाया। बतौर मुख्य अतिथि युवा नेतृत्वकर्ता वैभव चतुर्वेदी साथ में प्रबंधनिदेशिका श्रीमती पुष्पा चतुर्वेदी ने राष्ट्रध्वज फहरा कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस समारोह में बच्चों ने नाटकीय माध्यम से देश के संस्कृत को पेश किए। वैभव चतुर्वेदी ने अपने भाषण में छात्र-छात्राओं और जिलेवासियों को गणतंत्र के औचित को समझाया। वैभव चतुर्वेदी ने कहा कि आज हमारे देश को आजाद हुए 72 साल हो चुके हैं और हमें प्रगति की उस मंजिल तक पहुंचना है, जिसका सपना हमारे उन सेनानियों ने देखा था। हमें उनके आदर्शो पर चलते हुए देश व प्रदेश के विकास में अपना योगदान देना होगा। उन्होंने कहा इस दिन हम सभी को अपने देश की उन्नति की कामना करनी चाहिए। सबसे पहले आपको बता दूं कि आज गणतंत्र दिवस के दिन 1950 में देश का संविधान लागू हुआ था। गणतंत्र दिवस का यह दिन हमें याद दिलाता है कि कैसे हमारे स्वतंत्रता सैनानियों ने अहिंसा और बिना किसी भेदभाव के सिद्धांतों के आधार पर स्वतंत्रता हासिल की। यही वजह है कि इस त्योहार को महान उत्साह और भव्यता के साथ मनाया जाता है। युवा नेतृत्व करता वैभव चतुर्वेदी ने अनुच्छेद 15 का जिक्र करते हुए कहा कि भारत में रहरा हर व्यक्ति एक समान है, किसी भी जाति धर्म के लोग हों पर किसी के भी साथ कोई भेदभाव न हो इसका भारत में रह रहा हर व्यक्ति बराबर का हकदार है। उन्होंने कहा कि ऐसे संविधान को मेरा कोटि – कोटि प्रणाम है। उन्होंने कहा कि आजादी के 72 वर्ष बाद भी यह देखकर बहुत दुख होती है कि आज भी समाज के लोग 90% ऐसे जनप्रतिनिधि को चुन लेते हैं जो सिर्फ अपने और अपने परिवार के उत्थान में लगे रहते हैं। उन्हें अपने देश और समाज के उत्थान की चिंता नहीं होती है। वैभव चतुर्वेदी ने कहा कि सिर्फ अपना उत्थान करने वाले जनप्रतिनिधि को अपने मतों का अधिकार से उन्हें वंचित कर देना चाहिए और एक सही जय नेता जो सबका साथ और सबका विकास चाहता हूं ऐसे जनप्रतिनिधि का निर्माण करना चाहिए। उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि प्यारे साथियों आप आने वाले समय में परिवर्तन करें। समाज को आप से उम्मीद है ऐसे दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं का विरोध करना सीखें। प्रबंध निदेशक श्रीमती पुष्पा चतुर्वेदी ने सभी छात्र-छात्राओं व अभिभावकों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि 26 जनवरी का दिन गौरव का दिन है इसे हम सभी लोग बड़े ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाते हैं और बच्चों में इस दिन को लेकर बेहद उत्साह होता है। हमें आजादी बहुत ही मुश्किलों के बाद मिली। इस मौके पर अदिति चतुर्वेदी जी, प्रधानाचार्य अजय कुमार भारद्वाज, विकास सिंह, राजेश पांडे, रवि प्रताप सिंह, नीरज राव, सतीश कुशवाहा, बृजेश मिश्रा, नरेंद्र सिंह, नागेंद्र सिंह, रवि त्रिपाठी, आसिफ खान, नईम खान, परवेज अख्तर, हुसैन अली, बलदेव यादव, राजीव सहाय, धर्मेंद्र यादव समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

-----
लिंक शेयर करें