Breaking News

निराला जी अपने और देश के संघर्ष का किया चित्रण  :  प्रोफेसर दूबे

निराला जी अपने और देश के संघर्ष का किया चित्रण  :  प्रोफेसर दूबे
-एचआरपीजी कॉलेज में निराला जयंती समारोह का हुआ आयोजन
संतकबीरनगर। हीरालाल पीजी कॉलेज में हिंदी विभाग में निराला जयंती समारोह का आयोजन किया गया । समारोह में गोरखपुर विश्वविद्यालय के प्रोफेसर ने निराला के बारे में प्रकाश डाला। शनिवार को हीरा लाल पीजी कॉलेज में हिंदी विभाग में निराला जयंती समारोह का आयोजन किया गया ।निराला जयंती की पूर्व संध्या पर मुख्य वक्ता के रूप आए गोरखपुर विश्वविद्यालय से प्रोफेसर प्रत्यूष दुबे ने अपने वक्तव्य में महाकवि निराला को युग प्रवर्तक ,मानवतावादी कवि कहा । प्रो दुबे ने कहा कि राम की शक्ति पूजा के माध्यम से निराला ने केवल राम के संघर्ष का ही नही बल्कि अपने और देश के संघर्ष का भी चित्रण किया। मुख्य वक्ता के रूप में डॉ दुबे ने अमरकाव्य सरोज स्मृति का उल्लेख करते हुए कहा कि गीत निराला जी के सम्पूर्ण जीवन के संघर्षों के प्रतिबंध हैं।निराला का साहित्य उनके अंतर की अभिव्यक्ति हैं कवि की पीड़ा ही उनकी रचनाओं में अभिव्यक्त हैं। कार्यक्रम का संचालन करते हुए अमरनाथ पांडेय ने कहा कि निराला किसी युग के विशेष कवि नही हैं वह कालजयी  रचनाकार हैं । इस अवसर पर डॉ विजय राय, डॉ अनुभव, डॉ अनुपम, डॉ अमित मिश्रा डॉ नेहा सिंह एवं स्नाकोत्तर के सभी छात्र छात्रा उपस्थित रहे।

-----
लिंक शेयर करें