Breaking News

विधानसभा चुनाव में भी नहीं थम रहा कच्‍ची शराब का कारोबार

– खलीलाबाद कोतवाली क्षेत्र के विभिन्‍न गांवों में चल रहा है धन्‍धा

– पुलिस और आबकारी विभाग की मिलीभगत से धंधे को लगे पंख

संतकबीरनगर। केबीएन न्‍यूज

कोतवाली खलीलाबाद क्षेत्र में इस समय कच्‍ची दारु का धन्‍धा खुलेआम चल रहा है। आलम यह है कि विधानसभा चुनावों में भी यह कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। यही स्थिति रही तो कच्‍ची शराब विधानसभा चुनावों में अपना कहर बरपा सकती है।

Newskbn, khalilabad, santkabirnagar,Mahuli, kachhi sarab, Dhanghta, Mehdawal, gorakhpur

कच्‍ची शराब बनाने के लिए सड़ाने के लिए रखे गए महुआ लहन

  जिला मुख्‍यालय से सटे खलीलाबाद विधानसभा क्षेत्र के विभिन्‍न गांवों में कच्‍ची शराब का व्‍यवसाय काफी फल फूल रहा है। पुलिस और आबकारी विभाग की मिलीभगत से चलने वाला यह धन्‍धा विधानसभा चुनावों में भी थमने का नाम नहीं ले रहा है। खलीलाबाद क्षेत्र के रावतपार, भरपुरवा, गिठनी के साथ ही साथ अन्‍य गांवों के ईट भट्ठों पर यह धन्‍धा काफी तेजी से चल रहा है। अवैध कच्‍ची शराब के कारोबारी विधानसभा चुनावों को देखते हुए काफी स्‍टाक इकट्ठा कर लिए हैं। कारण यह है कि चुनावों में प्रत्‍याशियों द्वारा विविध तरीकों से मिलने वाले इस धन की खपत इन कच्‍ची दारु की दुकानों पर ही होती है। शाम होते ही ये चौराहे कच्‍ची दारु के धन्‍धेबाजों से गुलजार हो जाते हैं।

Newskbn, khalilabad, santkabirnagar,Mahuli, kachhi sarab, Dhanghta, Mehdawal, gorakhpur

कुछ इस तरह से बनाई जाती है कच्‍ची शराब (फाइल फाेटो)

काफी भीड इकट्ठा होती है। रात होते ही कच्‍ची दारु का सेवन करके लोग सड़कों पर घूमते हुए दिखाई दे जाते हैं। स्थिति तो यह है कि आबकारी और पुलिस विभाग अगर छापेमारी की कार्रवाई भी करता है तो इसलिए करता है कि बंधी बधाई रकम उनके पास तक पहुंच नहीं पाती है। कच्‍ची शराब के इन ठेकेदारों के उपर अगर कोई कार्रवाई नहीं की जाती है तो स्थिति चुनाव में काफी गंभीर हो सकती है। इसके लिए अगर कोई जिम्‍मेदार होगा तो वह आबकारी विभाग ही होगा।

कुछ इस तरह से बनाई जाती है कच्‍ची शराब (फाइल फाेटो)

-----
लिंक शेयर करें