Breaking News

भगवान भरोसे चल रहे हैं धनघटा क्षेत्र के प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र

–    स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्रों पर नहीं है कोई भी व्‍यवस्‍था

–    जनता की परेशानियों का नहीं है कोई पुरसाहाल

धनघटा, संतकबीरनगर। आनन्‍द पाण्‍डेय

बन्‍द पड़ा प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र

धनघटा विधान सभा क्षेत्र के तीनों ब्लाकों में बनें सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र केवल भगवान भरोसे चल रहे हैं। किसी भी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर कोई डाक्टर तैनात नहीं है। इससे क्षेत्र के लोगो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

धनघटा विधानसभा क्षेत्र में चुनाव का माहौल है सभी पार्टियां चुनावी मुद्दे, किए गए कार्यों का गुणगान करने में से नहीं थक रही हैं। विभिन्न प्रकार की जनसभा, परिवर्तन यात्राएं और रथ यात्रा की भरमार है। ऐसे में किसी भी पार्टी में जनता की बुनियादी समस्याओं, रोजमर्रा की जरूरतों का तनिक भी ध्यान नहीं है। इस क्षेत्र के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जगदीशपुर,  औराडाड़,  रोशयां, कुरमौल, तिघरा में ताला ही लगा रहता है। ये ताले कभी नहीं खुलते हैं। कभी खुलता भी है तो फार्मासिस्टों को बैठा दिया जाता है।  बेचारा फार्मासिस्ट मरीजों का क्या इलाज करेगा मरीज भी ऐसे स्वास्थ्य केंद्रों पर जाने से कतराते हैं। धनघटा तहसील पर केवल तीन ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हैसर बाजार जो मलौली में स्थित है, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नाथनगर एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पौली जो शनिचरा में स्थित है। प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र डेबरी, अशरफपुर, रामपुर, जगदीशपुर, हकीमपुर, नारायणपुर,  खालेपुरवा, बसवारी गांव, परसहर पूर्वी, काली जगदीशपुर, कोदवट, साखी जैसे दर्जनों गांव की जनता भविष्य की सरकार का इंतजार कर रही है ग्रामसभा डेवरी निवासी ज्ञान प्रकाश मिश्र का कहना है की यदि ऐसी ही दुर्व्यवस्था बनी रहे तो दिन दूर नहीं जब क्षेत्र की जनता मतदान से मुंह मोड़ लेगी अशरफ पुर निवासी त्रिजुगी उपाध्याय का कहना है कि यदि यही हालत बनी रही तो आने वाले समय में क्षेत्र की जनता को और अत्यधिक परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।

-----
लिंक शेयर करें