Breaking News

खलीलाबाद में 6 फर्जी इनकम टैक्‍स अधिकारियों को धुना, पुलिस को सौंपा

 – सर्राफा व्‍यवसाई के यहां छापा मारने के लिए पहुंचे थे ये कथित इनकम टैक्‍स अधिकारी

-जेवरात समेटकर थे भागने की फिराक में,लेकिन व्‍यापारियों की सूझबूझ से पकड़े गए

संतकबीरनगर। केबीएन न्‍यूज

संतकबीरनगर जनपद के कोतवाली खलीलाबाद क्षेत्र के गोलाबाजार में एक सर्राफा व्‍यवसाई के यहां छापेमारी करने के लिए पहुंचे कथित इनकम टैक्‍स अधिकारियों की लोगों ने जमकर धुनाई कर दी। इस दौरान एक युवती समेत 6 लोगों को दबोच लिया गया। इनको पकड़कर कोतवाली पुलिस को सौंप दिया गया। कोतवाली पुलिस इनसे पूछताछ कर रही है। इन्‍हें तब पकड़ा गया जब वे लाखों के जेवर लेकर भागने की फिराक में थे।

Farji income tex officer, khalilabad, santkabirnagar, mahuli, chhapa, newskbn, khalilabad, dhunai,

फर्जी इनकम टैक्‍स अधिकारियों की यह गाड़ी

हुआ यूं कि सुबह 10.30 बजे के करीब कोतवाली खलीलाबाद के गोलाबाजार में स्थित सीताराम सर्राफ की दुकान पर एक गाड़ी में सवार होकर 6 लोग एक साथ पहुंचे। इनमें 5 पुरुष व एक पुलिस की वर्दी पहने हुए युवती थी। जबकि दो सिपाही टाइप थे। व दो अधिकारी की तरह दिख रहे थे। जबकि एक ड्राइवर उनके साथ था।  दुकान खुलने की तैयारी चल रही थी। शटर अभी गिरा हुआ था। एक तरफ का गेट थोड़ा खुला था। इसी दौरान पहुंचे उन लोगों ने बताया कि वे इनकम टैक्‍स विभाग से आए हैं, जांच के लिए आए हैं। दुकान के म‍ालिक रजनीश उर्फ प्रिंस वर्मा ने उन्‍हें ससम्‍मान बैठाया। अन्‍दर जाते ही उन लोगों ने सारा माल निकालने को कहा। कुछ सामान बाहर निकाल लिया । वे उसकी चेकिंग करने लगे। छांट छाटकर कुछ जेवरों को उन्‍होने एक तरफ किया। इसके बाद आपस में बातें करने लगे।

फर्जी इनकम टैक्‍स अधिकारियों की टूटी गाड़ी

इसी दौरान दुकान के मालिक ने अपने सामने स्थित संकटमोचन दुकान पर फोन किया। फोन आने के बाद वहां से विवेक छापडि़या तथा अधिवक्‍ता श्रवण अग्रहरि, व्‍यापारी नेता अमित जैन, श्‍यामसुन्‍दर वर्मा, बनार्जी लाल अग्रहरि, संजय वर्मा, राजेश वर्मा, सुनील छापडि़या, दीपक वर्मा आदि लोग पहुंचे। वे लोग वहीं खड़े होकर उनकी कार्रवाई को देखने लगे। धीरे धीरे भीड़ जुटनी शुरु हो गई। तथाकथित अधिकारियों ने जब सारा माल अपने बैग में भर लिया। इसके बाद दुकान के सीसीटीवी कैमरे का डीबीआर निकलवा लिया। इसके बाद बाहर निकल गए। कुछ व्‍यापारियों ने माल की रसीद देने की बात कही। लेकिन उन्‍होने कहा कि कोई रसीद नहीं मिलती है। लखनऊ कार्यालय पर जांच के बाद ले जाना। तभी वहां पर मौजूद वस्‍त्र व्‍यवसाई विवेक छापडि़या को उनके हाव भाव पर कुछ संदेह हुआ। इसके बाद उन्‍होने लोगों से कहा कि ये तो फर्जी लग रहे हैं। इसके बाद व्‍यापारियों ने उन्‍हें पकड़कर बैठा लिया। साथ ही पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर पुलिस के साथ ही साथ व्‍यापारियों का हुजूूम भी मौके पर पहुंच गया।

पकड़े गए फर्जी अधिकारियों के नाम- बटन दबाएं पढ़े – युवा व्‍यवसाई विवेक बने ‘संकटमोचन’ – बटन दबाएं

वहां पर पहुंचे लोगों ने इन अधिकारियों के नीली बत्‍ती लगे वाहन को तोड़ दिया। पकड़े गए लोगों को जमकर धुना। पुलिस को उन्‍हें बाहर निकालने के लिए काफी मशक्‍कत करनी पड़ी। कारण यह था कि मौके पर इतने व्‍यापारी जुट गए थे  कि वे उन्‍हें मारने पीटने पर आमादा हो गए थे। मौके पर पुलिस को बज्र वाहन भी ले आना पड़ा। मौके पर एसपी हीरालाल, अपर पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार वर्मा के साथ ही स्‍थानीय सांसद शरद त्रिपाठी, भाजपा खलीलाबाद के प्रत्‍याशी दिग्विजय नारायण  चतुर्वेदी उर्फ जय चौबे, रालोद प्रत्‍याशी गंगा सिंह सैंथवार, सपा प्रत्‍याशी जावेद अहमद, इस दौरान पुलिस विभाग के उच्‍चाधिकारी मौके पर पहुंच गए। फिलहाल पुलिस ने उनको पकड़कर आवश्‍यक कार्रवाई शुरु कर दी है।

Farji income tex officer, khalilabad, santkabirnagar, mahuli, chhapa, newskbn, khalilabad, dhunai,

अधिकारियों की गाड़ी को घेरे हुए लोग और उपस्थित पुलिस

 

-----
लिंक शेयर करें