Breaking News

संतकबीरनगर में व्‍यापारी नेताओं की सक्रियता ने टाला बड़ा हादसा

– फर्जी इनकम टैक्‍स अधिकारियों को दबोचा तो उन्‍हें बचाया भी, नहीं तो जा सकती थी जान

– असहाय पुलिस के सामने व्‍यापारी नेताओं ने संभाला मोर्चा, भीड़ को किया शान्‍त

संतकबीरनगर। अरुण सिंह

कोतवाली खलीलाबाद के क्षेत्र के गोलाबाजार में फर्जी इनकम टैक्‍स अधिकारियों के पकड़े जाने के मामले में जहां व्‍यापारी नेताओं ने महत्‍वपूर्ण भूमिका अदा की। वहीं दूसरी तरफ उन्‍हें आक्रोशित भीड़ से बचाने में भी महत्‍वपूर्ण भूमिका अदा की। स्थि‍ति तो यह रही कि पुलिस पूरी तरह से भीड़ के सामने असहाय सी दिख रही थी। अगर व्‍यापारी नेता सक्रिय नहीं होते तो बड़े हादसे से इनकार नहीं किया जा सकता था। उन्‍होने भीड़ का मोर्चा संभालते हुए उन्‍हें शान्‍त भी किया।

 Newskbn, khalilabad, santkabirnagar, deoria, uttarakhand, farji income, tex officer, gorakhpur, uttarpradesh, dhunai, lucknow, SP Heeralal, kotwali,

बनार्जी लाल अग्रहरि, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्‍य, अखिल भारतीय उद्योग व्‍यापार प्रतिनिधिमण्‍डल

जब सर्राफा व्‍यवसाई की दुकान पर आयकर अधिकारियों के छापे की खबर मिली तो सबसे पहले उत्‍तर प्रदेश उद्योग व्‍यापार प्रतिनिधि मण्‍डल के महामन्‍त्री व अधिवक्‍ता श्रवण अग्रहरि मौके पर पहुंचे।

 Newskbn, khalilabad, santkabirnagar, deoria, uttarakhand, farji income, tex officer, gorakhpur, uttarpradesh, dhunai, lucknow, SP Heeralal, kotwali,

अमित जैन, अध्‍यक्ष, उत्‍तर प्रदेश उद्योग व्‍यापार प्रतिनिधि मण्‍डल, जिला इकाई

 Newskbn, khalilabad, santkabirnagar, deoria, uttarakhand, farji income, tex officer, gorakhpur, uttarpradesh, dhunai, lucknow, SP Heeralal, kotwali,

श्रवण अग्रहरि, महामन्‍त्री उत्‍तर प्रदेश उद्योग व्‍यापार प्रतिनिधि मण्‍डल,जिला इकाई

उन्‍होने तुरन्‍त ही अपने अध्‍यक्ष अमित जैन तथा प्रदेश कार्यसमिति के सदस्‍य बनार्जी लाल अग्रहरि को इसकी सूचना दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे इन लोगों ने तुरन्‍त ही अपने सहयोगियों के साथ बन्‍द दुकान के शटर को खुलवाया। आयकर के अधिकारियों से पूछताछ भी शुरु कर दी। इसके बाद धीरे धीरे व्‍यापारियों की भीड़ एकत्रित हो गई। अन्‍दर से बाहर निकल रहे इन फर्जी इनकम टैक्‍स विभाग के अधिकारियों को रोका, उनके आई कार्ड चेक किए, साथ ही पुलिस अधिकारियों को फोन किया। बाद में मौके पर भारी संख्‍या में लोग पहुंच चुके थे। लोगों की भीड़ इन फर्जी अधिकारियों को मारने पीटने पर आमादा थी। मौके पर पुलिस भी पहुंच चुकी थी। लेकिन पुलिस विभाग के अधिकारी व पुलिसकर्मी खुद को असहाय महसूस कर रहे थे। लेकिन इन व्‍यापारियों ने सभी लोगों से हाथ जोड़कर नियन्त्रित रहने की बात कही। यही नहीं खुद ही सुरक्षा घेरा बनाकर उनको बाहर निकलवाया। इसके बावजूद कुछ लोगों ने उन तथाकथित अधिकारियों को खींचकर कई झापड़ रसीद कर दिए।

देखें वीडियो… क्‍या कहते हैं बनार्जी लाल अग्रहरि

यह व्‍यापारी नेताओं की सक्रियता का ही नतीजा था कि ये अपराधी पकड़ लिए गए। नहीं तो इतनी बड़ी लूट हो जाने के बाद पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी रहती। अगर ये तथाकथित इनकम टैक्‍स अधिकारी आक्रोशित भीड़ के शिकार हो गए होते तो स्थिति का अन्‍दाजा स्‍वत: ही लगाया जा सकता है।

 

-----
लिंक शेयर करें