Breaking News

गन्‍ना मिलों के मालिकों से मिली हुई है प्रदेश सरकार: नरेन्‍द्र मोदी

– गन्‍ना बेचने के 14 दिन में गन्‍ना किसानों को मिल जाएंगे पैसे

– गायत्री मन्‍त्र की तरह से पढ़ रहे हैं गायत्री प्रजापति का जाप

बस्‍ती/ बहराइच। केबीएन न्‍यूज

देश के प्रधानमन्‍त्री नरेन्‍द्र मोदी ने उत्‍तर प्रदेश के बहराइच और बस्‍ती में दो रैलियां कीं। इन रैलियों में प्रदेश सरकार के साथ ही साथ अन्‍य लोगों पर भी जमकर निशाना साधा। उन्‍होने कहा कि प्रदेश सरकार गन्‍ना मिलों के मालिकों से मिली हुई है। प्रदेश सरकार की मिलीभगत का ही नतीजा है कि गन्‍ना मिलों के मालिक मिलों को बन्‍द कर रहे हैं। गन्‍ना किसानों के बकाया गन्‍ना मूल्‍य का भुगतान नहीं कर रहे हैं। गन्ना किसानों के बकाया मूल्‍य को बिचौलियों के हाथों में न देकर सीधे उनके खाते में भेजा।

रैली को सम्‍बोधित करते हुए नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि उत्‍तर प्रदेशपूरे देश को मीठा कर देता है। लोकसभा चुनाव में मैंने गन्ना किसानों के पैसे देना का वादा किया था। लेकिन चीनी कारखानों के मालिकों से आपका क्या रिश्ता है? 11 मार्च को नतीजे आएंगे। 13 मार्च को देश होली के रंग में रंग जाएगा। हमने मेनिफेस्टो में वादा किया है कि जल्द से जल्द किसानों को भुगतान कर दिया जाएगा। इसके बाद जब सरकार बनेगी तो 14 दिन में भुगतान करने की व्यवस्था कर दी जाएगी। हमने कर्ज माफी का वादा किया है। उसे भी पूरा किया जाएगा।”

 

बहराइच से ही जाकर सीएम बना था गुजरात का
बहराइच में रैली को सम्‍बोधित करते हुए मोदी ने कहा कि बहराइच से मेरा पुराना नाता है। मैं यहां बीजेपी संगठन के लिए काम करता था। हर जिले में जाता था। एक बार मैं बहराइच पहुंचा। यहां संगठन की मीटिंग थी। अचानक अटलजी का संदेश आया। कहा- तुम जल्दी लौट आओ। मुझे जाना पड़ा। यहीं मेरी आखिरी मीटिंग हुई। इसके बाद में सीएम बना गुजरात का। बहराइच मुझे हमेशा याद रहेगा। मैं यूपी का सांसद हूं। यहां से मुझे भारी समर्थन मिला। यहां के सांसद के नाते मैं यहां की जनता से वादा करता हूं कि जब पहली मीटिंग होगी तो उसमें पहली ही मीटिंग में कर्ज माफी का फैसला हो जाए।”

 

गायत्री मंत्र नहीं गायत्री प्रजापति के नाम का मंत्र पढ़ते हैं

मोदी ने कहा, ”हमारे यहां लोग शुभ काम करते हैं तो गायत्री मंत्र पढ़ते हैं। लेकिन यहां ये दोनों गायत्री प्रजापति के लिए वोट मांगते हैं और उनके नाम का मंत्र पढ़ते हैं। इन लोगों को सत्ता में आने का कोई हक नहीं है। बता दें कि गायत्री प्रजापति अखिलेश सरकार में मंत्री हैं। उन पर नाबालिग के सेक्शुअल हैरेसमेंट का आरोप लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने उन पर एफआईआर करने को कहा है। प्रजापति शिवपाल यादव के करीबी माने जाते हैं।  पिछले साल सपा में विवाद के बाद अखिलेश ने उन्हें बर्खास्त कर दिया था। लेकिन मुलायम के दखल के बाद उन्हें बहाल कर दिया गया।

बालू, शिक्षा में ही नहीं हर जगह माफिया हैं यहां

मोदी ने कहा, ”यहां रेत और बालू माफिया के अलावा शिक्षा माफिया भी सक्रिय है। ब्रम्हा की भूमि को लूट-खसोट की भूमि बना दिया। लेकिन उन्ही लोगों ने लूट लिया जिन पर बचाने की जिम्मेदारी थी। 65 साल की महिला को तीन बार प्रसूता बताकर पैसा लूट लिया गया। इन्दिरा जी ने सरयू नदी परियोजना शुरू की थी। 40 साल में ये पूरी नहीं हुई। हम सत्ता में आए तो ये परियोजना फौरन पूरी करने का काम करेंगे। ताकि यहां के किसानों का भाग्य बदले।

 

हवलदार भी इमानदारी से नौकरी करेगा तो हटा दिया जाएगा

यूपी में कानून व्यवस्था चौपट हो चुकी है। यूपी में आज दिन में भी बहन-बेटी घर से निकलने में डरती है। राम और कृष्ण की इस भूमि में कैसे हो सकता है। हर थाने को समाजवादी पार्टी का दफ्तर बना दिया है। छोटा से हवलदार अगर इमानदारी से काम करेगा तो लखनऊ से ऑर्डर आएगा और उसक नौकरी चली जाएगी।

 

-----
लिंक शेयर करें