Breaking News

गायत्री प्रजापति के दिन पूरे, उसे तो पाताल से भी खोज निकालेंगे : केशव मौर्या

लखनऊ.बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने गायत्री प्रजापति मामले को लेकर आरोप लगाया है कि गायत्री प्रजापति प्रदेश के मुख्‍यमन्‍त्री अखिलेश यादव के घर में छुपा हुआ है। प्रदेश के मुख्‍यमन्‍त्री रेप के आरोपी गायत्री प्रजापति को  संरक्षण देने का काम कर रहे हैं। यह ड्राम अब और नहीं चलने  वाला है। जिस दिन प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनेगी, उस दिन गायत्री प्रजापति अगर पाताल में भी छिपा होगा तो उसे वहां से खोजकर जेल की सलाखों के पीछे पहुंचा देंगे।
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्‍यक्ष केशव मौर्या ने  शुक्रवार को ट्वीट किया कि- ”गायत्री प्रजापति को मुख्यमंत्री आवास पर छिपा कर रखा गया है। पुलिस गिरफ्तारी का नाटक कर रही है। भाजपा तत्काल गिरफ्तारी की मांग करती है।इसके बाद एक और ट्वीट में उन्होंने कहा- ”बलात्कार के आरोपी कैबिनेट मंत्री को मत छुपाओ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जी। आप चाहोगे तो 10 मिनट के अंदर आरोपी मंत्री जेल में जाएगा।मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जी गंगा की कसम खाकर कहें कि उन्होंने अपने कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रजापति को मुख्यमंत्री आवास में नहीं छिपाया। वहीं, केशव मौर्य ने एक और ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने कहा- ”अपराधियों को संरक्षण देने के मामले में अखिलेश यादव को उपाधि मिलनी चाहिए। प्रदेश के बड़े अपराधियों के संरक्षक मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जी।
इसके बाद उन्‍होने इण्डिया टीवी को दिए गए अपने इण्‍टरव्‍यू में भी यही आरोप लगाए और कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने तो दीजिए। गायत्री प्रजापति जैसा व्‍यक्ति अगर पाताल के अन्‍दर भी छिपा होगा तो उसे गिरफ्तार करके जेल की सलाखों के पीछे भेजने का काम करेंगे।

क्या है गायत्री का मामला?
प्रदेश सरकार के मंत्री गायत्री प्रजापति पर नाबालिग के सेक्शुअल हैरेसमेंट और गैंगरेप का आरोप है। लेकिन यूपी के मंत्री गायत्री प्रजापति की गिरफ्तारी अब तक नहीं हो पाई है। पुलिस की टीमें लगातार उनके ठिकानों पर छापेमारी कर रही हैं। इस बीच, आरोपियों के देश छोड़ने की आशंका के चलते पुलिस ने उनके पासपोर्ट कैंसल कराने की कार्रवाई शुरू की है। अमेठी में गायत्री की सिक्युरिटी में लगे पुलिस के आधा दर्जन से ज्यादा जवानों को हटा लिया गया है। दूसरी ओर, सीएम अखिलेश यादव ने एक टॉक शो में कहा कि मंत्री फौरन सरेंडर करें। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर पर यूपी पुलिस ने गायत्री समेत 6 आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया था।

-----
लिंक शेयर करें