Breaking News

मणिपुर विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 80 प्रतिशत मतदान

इंफाल: मणिपुर विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 38 सीटों के लिए आज 80 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ।  आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हुआ। मतदान प्रतिशत 80 से अधिक भी हो सकता है। मतदान केन्द्रों पर तय समय सीमा के बाद भी मतदाताओं की लंबी कतारें देखी गई। जिन मतदाताओं को मतदान करने के लिए टोकन दिया गया है उन्हें वोट डालने की अनुमति दी जा रही है। इससे पहले अपराह्न एक बजे तक 69 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था।

168 उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत का फैसला होना है फैसला
पहले चरण के चुनाव में 168 उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत का फैसला होना है। जिन पांच जिलों में मतदान हो रहा है उनमें इम्‍फाल पूर्व, इंफाल पश्चिम, कांग्पोक्पी, बिशेनपुर और चुराचांदुर शामिल हैं। मतदान में कुल 5,44,050 पुरूष मतदाता और 5,75,220 महिला मतदाता शामिल हैं जिनमें 5169 पुरुष नौकरीपेशा मतदाता और 1915 महिला नौकरीपेशा मतदाता हैं।  मतदान के लिए 38 विधानसभा क्षेत्रों में 1643 मतदान केंद्र बनाए गये हैं। मतदान के दौरान एक वायु एबुलेंस (हेलीकॉप्टर) को भी तैनात रखा गया है।  बिशेनपुर के छह और इंफाल पश्चिम के 10 मतदान केंद्र पूरी तरह महिला मतदान अधिकारियों के संचालन में है। 

सभी मतदान केंद्रों में तैनात हैं सुरक्षाबल
सुरक्षाबलों के जवान सभी मतदान केंद्रों में तैनात हैं। श्रम विभाग ने मतदान के दिन सभी नियोक्ताओं को अपने कर्मचारियों को अवकाश देने का निर्देश दिया है। राज्य सरकार ने स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए आज सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की है।  मतदान केंद्र से 100 मीटर तक किसी को भी मतदाताओं को लुभाने के लिए प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई है। सुबह सात बजे से अपराह्न तीन बजे तक मतदान के दौरान किसी को भी मतदान केंद्रों में मोबाइल फोन ले जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है।  सभी जिलाधिकारियों ने मतदान क्षेत्रों में निषेधाज्ञा लागू करने के आदेश दिये हैं। सीईओ नेे फर्जी मतदान रोकने के लिए पुख्ता इंतजाम करने का आदेश दिया है।

चुनाव प्रक्रियाओं का किया जा रहा है लाइव वेब प्रसारण
सभी मतदान केंद्रों पर चुनाव प्रक्रियाओं का लाइव वेब प्रसारण किया जा रहा है लेकिन जहां पर थ्री जी कनेक्टिविटी नहीं है वहां पर वीडियोग्राफी की जा रही है। अधिकतर अधिकारी, सुरक्षाकर्मी, वाहन आदि जीपीएस उपकरण से जुड़े है और प्रत्येक गतिविधी पर नजर रखी जा रही है। चुनाव में निष्पक्षता को सुनिश्चित करने के लिए केवल केंद्रीय अद्र्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है। यूनाइटेड नागा काउंसिल द्वारा पिछले वर्ष एक नवंबर से नाकाबंदी करने के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुरक्षा व्यवस्था के लिए 30 कंपनियों को तैनात किया गया है। यहां के मतदान केंद्रों पर अनुमानत: 250 कंपनियों को तैनात किया गया है। अधिकतर मतदान केंद्रों पर पांच अधिकारी तैनात हैं।   राज्य की 22 सीटों पर दूसरे चरण के चुनाव में 98 उम्‍मीदवारों के भाग्य का फैसला होना है।

-----
लिंक शेयर करें