Breaking News

प्रो. रामगोपाल ने खबरिया चैनल वाले को मारा जोरदार तमाचा

– प्रदेश के मुख्‍यमन्‍त्री के खिलाफ बोलने के लिए उकसा रहा था

– बोले दो दिन भी नहीं बीते, क्‍या परिणाम चाहते हो मुख्‍यमन्‍त्री से

लखनऊ। न्‍यूज केबीएन

कहा जाता है कि सही नेता वही है जिसके अन्‍दर नैतिकता है। जिसके अन्‍दर नैतिकता नहीं है वह बेहतर नेता नहीं है। विरोध में भी नैतिकता होनी चाहिए। यह बात साबित कर दिया समाजवादी पार्टी के नेता प्रो. रामगोपाल ने। उन्‍होने प्रदेश के नए मुख्‍यमन्‍त्री योगी आदित्‍यनाथ के खिलाफ बोलने के लिए उकसा रहे एक न्‍यूज चैनल के पत्रकार को जोरदार तमाचा लगा दिया, अपने तीखे जवाब के जरिए।

हुआ यूं कि समाजवादी पार्टी के नेता प्रो. रामगोपाल विधान सभा के पास कहीं पैदल ही जा रहे थे। इतने में एक न्‍यूज चैनल का संवाददाता अपनी आई डी लेकर पहुंच गया और बोला… हमारे साथ हैं समाजवादी पार्टी के प्रो. रामगोपाल यादव। आइये जानते हैं उनसे कुछ बातें..

संवाददाता: हॉ तो रामगोपाल जी, नई सरकार बन गई है। नए मुख्‍यमन्‍त्री बंगले में जाने के लिए आवास का शुद्धीकरण करवा रहे हैं। क्‍या कहना है आपका।

प्रो. रामगोपाल : कोई भी आदमी नई जगह पर जाता है तो पूजा पाठ करवाता है। मुख्‍यमन्‍त्री कोई नया काम तो कर नहीं रहे हैं।

संवाददाता : अभी उत्‍तर प्रदेश में दो हत्‍याएं हो गई हैं। क्‍या कहना है आपका

प्रो. रामगोपाल : हत्‍याएं तो होती हैं, उन्‍हें रोका नहीं जा सकता है। अभी तो सरकार 24 घण्‍टे की भी नहीं हुई। आप परिणाम चाहते हैं। 6 महीने बाद पूछिएगा।

संवाददाता : बीजेपी ने वायदा किया था कि किसानों के कर्जे माफ होंगे। बूचड़खाने बन्‍द होंगे… क्‍या कहना है आपका

प्रो. रामगोपाल : अभी तो कैबिनेट की बैठक भी ढंग से नहीं हुई। सरकार ने अभी ढंग से कार्य करना भी शुरु नहीं किया। क्‍यों उतावले हो रहे हैं आप। क्‍या चाहते हैं सरकार से।

इसके बाद प्रो. रामगोपाल वहां से चले गए। समाचार चैनल शायद इसे नहीं चलाता। लेकिन मजबूरी यह थी कि ओ बी वैन से लाइव हो रहा था। इसलिए चैनल पर चल गया।

लेकिन प्रो. रामगोपाल यादव जैसे नैतिक बल वाले नेता का यह जवाब वास्‍तव में काबिले तारीफ है। यही एक पढ़े लिखे और विद्वान नेता का। इस तरह की बातों से नेताओं को तो सबक लेना ही चाहिए। साथ ही साथ उन चैनल वालों को भी सबक लेना चाहिए कि वे सभी नेताओं को एक जैस ट्रीट न करें।

-----
लिंक शेयर करें