Breaking News

मुलायम ने अखिलेश व रामगोपाल को पार्टी से निकाला

लखनऊ: सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और राज्यसभा सांसद राम गोपाल यादव को अनुशासनहीनता के लिए पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। इससे पहले मुलायम सिंह ने रामगोपाल और अखिलेश यादव को नोटिस जारी किया था। दोनों नेताओं की बर्खास्तगी के बाद मुलायम सिंह ने कहा कि अगर अखिलेश यादव माफी मांगेंगे को विचार किया जाएगा। अखिलेश की बर्खास्तगी की जैसे ही उनके समर्थकों को जानकारी मिली उन्होंने जमकर हंगामा करना शुरू कर दिया। कहा जा रहा है कि थोड़ी देर बाद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करेंगे।

पार्टी विरोधी काम करने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई
मुलायम ने कहा कि मेरा लक्ष्य किसी को सजा देना नहीं बल्कि खून पसीने से बनाई गई पार्टी को बचाना है। राम गोपाल और अखिलेश मिलकर पार्टी को बर्बाद कर रहे हैं, इसी लिए कड़ी कार्रवाई की गई। जो भी पार्टी विरोधी काम करेगा उस पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करेंगे, पार्टी में अनुशासन बनाए रखना पहली प्राथमिकता है। पार्टी को ही बचाने के लिए हमने कड़ा फैसला लिया। अनुशासन हीनता के चलते अखिलेश यादव को पार्टी से निकाला गया।

अखिलेश को भेजा कारण बताओ नोटिस
मुख्यमंत्री द्वारा कल रात 235 प्रत्याशियों की समानान्तर सूची जारी किये जाने के बाद पैदा सूरतेहाल के बीच सपा मुखिया ने शाम को अखिलेश को कारण बताआे नोटिस जारी किया था। नोटिस में कहा गया है कि आपके द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष के समानान्तर सूची जारी किया जाना घोर अनुशासनहीनता है। इसलिये क्यों ना आपके विरद्ध अनुशासनिक कार्रवाई की जाए।

रामगोपाल को भी भेजा गया था नोटिस
इसके अलावा मुलायम ने सपा महासचिव रामगोपाल यादव को भी बिना इजाजत के मीडिया में बयान देने पर नोटिस जारी किया है। इसके बाद तेजी से हुए घटनाक्रम में रामगोपाल ने पार्टी महासचिव की हैसियत से आगामी एक जनवरी को राष्ट्रीय प्रतिनिधियों का आपातकालीन समेलन बुलाया। राम मनोहर लोहिया विश्वविद्यालय में आयोजित होने वाले इस समेलन में कोई बहुत बड़ा फैसला लिया जा सकता है।  रामगोपाल ने कहा कि ‘उन्हें जो नोटिस जारी किया गया है, वैसे नोटिस तो जारी होते ही रहते हैं। एक तारीख को सब कुछ पता लग जाएगा।’

शिवपाल की मुलायम से मुलाकात
इसके पूर्व, सपा के प्रान्तीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने आज फिर पार्टी मुखिया मुलायम सिंह यादव से दो बार मुलाकात की। बहरहाल, परिवार के अखाड़े में जारी ‘दंगल’ के बीच सपा मुखिया मुलायम ने अपने द्वारा गत बुधवार को जारी सूची में घोषित पार्टी प्रत्याशियों की कल पार्टी प्रदेश मुख्यालय पर बैठक बुलायी है। पार्टी में जारी उठापटक के मद्देनजर यह बैठक बेहद महत्वपूर्ण मानी जा रही है। माना जा रहा है कि मुलायम इस बैठक में प्रत्याशियों के रख को भांपने की कोशिश करेंगे। इस बीच, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक कार्यक्रम के दौरान पार्टी में मचे घमासान पर संवाददाताआें द्वारा पूछे गये किसी भी सवाल का जवाब नहीं दिया। 

-----
लिंक शेयर करें