Breaking News

घर में इस तरह से करेंगे पूजा, तो नहीं होगा नकारात्‍मक उर्जा का संचार

*  घर में प्रात: काल व गोधूलि बेला में गायत्री मंत्र जाप से घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

*  ईशान कोण में पूजा स्थल के नीचे पत्थर की स्लैब नहीं लगाएं, अन्यथा कर्ज के चंगुल में फंस जाएंगे। उत्तर-पूर्व के भाग में ज्योति जलाना घातक सिद्ध हो सकता है। इस कोने में हवन करना हानि, ऋणों तथा मुसीबत को निमंत्रण देना होता है। यह जलीय कोण है, और पानी आग को सह नहीं सकता। अत: पूजा घर के अग्रि कोण की तरफ ज्योति जलाएं, हवन करें।

*  आवासीय या व्यावसायिक भवन में यदि पारद शिवलिंग की स्थापना कर दी जाए और नित्य उसकी श्रद्धा से पूजा-अर्चना की जाए तो सभी प्रकार के वास्तुदोषों का निवारण हो जाता है।

*  रंग भी अपना प्रभाव डालते हैं। लाल व महरून रंग से बचना चाहिए।

-----
लिंक शेयर करें