Breaking News

कृष्‍ण व सुदामा के किस्‍से को योगी ने कैशलस लेन देन से जोड़ा

लखनऊ । पंचायती राज दिवस के कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे थे। यहां उन्होंने जब कैशलेस से संबधित द्वापर युग की एक कहानी सुनानी शुरू की तो पूरे हाल में चुप्पी छा गई। सब बड़े ध्यान से सुनने लगे कि अब योग आगे क्य कहेंगे। उन्होंने बताया किकैशलेस की शुरुआत भगवान कृष्ण और सुदाम के समय ही हो गई थी। उन्होंने बताया कि ”सुदामा जी एक बार जब भगवान कृष्ण के यहां उन्हें मिलने आएं।

सुदामा की आर्थिक हालत ठीक नहीं थी लेकिन संकोचवश उन्होंने कृष्ण से कुछ नहीं मांगा, वहीं कृष्ण ने भी उन्हें कुछ नहीं दिया।”  ”इसपर सुदामा सोचते कि कृष्ण तो राजा बनने के बाद अहंकारी हो गए हैं, कुछ दिया तक नहीं।” ”इसके बाद जब सुदामा घर पहुंचे तो देखा कि उनकी आशा से कहीं ज्यादा उन्हें मिला है। वहां तो महल बना हुआ था।” ”इस तरह बिना कैश लिए और दिए कृष्ण ने सुदामा की सहायता की थी।”

योगी ने कैशलेस की पहल करने को कहा और लोगों को भीम एप को यूज करने की भी सलाह दी। बता दें, डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिसंबर 2016 में मोबाइल ऐप भीम लॉन्च किया था। इसके जरिए बिना इंटरनेट के भी आपका पेमेंट हो सकेगा। अंगूठा जो कभी अनपढ़ होने की निशानी था, वह डिजिटल पेमेंट की ताकत बन जाएगा। अंगूठा ही डिजिटल ट्रांजैक्शन के लिए काफी होगा।”

-----
लिंक शेयर करें