Breaking News

दिल्‍ली से 25 हजार सिखों को लेकर पटना रवाना हुई ट्रेने

नई दिल्ली: श्री गुरु गोबिन्द सिंह के 350वें प्रकाश गुरपर्व के अवसर पर पांच हजार श्रद्धालु पटना साहिब में हो रहे समागमों में दिल्ली शहर की हाजरी लगवाएंगे। इसके लिए दिल्ली से 3 विशेष ट्रेनें रवाना हुईं। इसकी शुरुआत सोमवार को सफदरजंग रेलवे स्टेशन से दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की अगुवाई में हुई। इस मौके पर कमेटी के अध्यक्ष मंजीत सिंह जीके एवं महासचिव मनजिंदर सिंह सिरसा सहित सभी पदाधिकारी मौजूद रहे। यह यात्रा दिल्ली कमेटी द्वारा निशुल्क करवाई जा रही है। यात्रा के रास्ते में तीन स्थानों कानपुर, इलाहाबाद और मुगलसराय में लंगरों का विशेष प्रबंध संगतों के लिए किया गया है।

कमेटी अध्यक्ष जी.के. ने बताया कि संगतों में गुरु साहिब के जन्म स्थान के दर्शनों के लिए भारी उत्साह है, जिस कारण लगभग 5 हजार सीटों पर दावा पेश करने के लिए 15 हजार संगतों द्वारा टिकटों की प्राप्ति की कोशिशें की गई थी। कमेटी ने स्थानीय कमेटी सदस्यों की लिस्ट को आधार बनाकर पहले आओ-पहले पाओ के सिद्धांत पर ज्यादा से ज्यादा संगतों को भेजने, लंगर और रिहायस के लिए सुयोग्य प्रबंध किए हैं। जी.के. ने चरन चलउ मारगि गोबिंद रेल यात्रा को ऐतिहासिक नगर कीर्तन के तौर पर परभाषित करते हुए संगतों द्वारा रास्ते में गुरबाणी गायन करने का भी हवाला दिया।

इस अवसर पर कमेटी महासचिव मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि दिल्ली कमेटी ने संगतों को शताब्दी समागमों के साथ जोड़ने के लिए दिन-रात एक करके बड़ी जद्दोजहद की है, जिसके नतीजे आज सुबह 7 बजे, सुबह 11 बजे और दोपहर 2 बजे तीन ट्रेनों में श्रद्धालुओं को हर प्रकार की सुविधाएं देकर पटना साहिब के लिए रवाना करना संभव हो सका है। इस यात्रा की वापसी 5 जनवरी  को शाम से आरंभ होने की सिरसा ने जानकारी दी। सिरसा ने आशा प्रकट की इस यात्रा का हिस्सा बने श्रद्धालु अपने पूरे जीवन में नयीं यादों को यात्रा के द्वारा सृजन करेंगे। इस अवसर पर दिल्ली कमेटी के सभी पदाधिकारी तथा सदस्य मौजूद थे। वहीं पंजाब भर से भी 10 ट्रेनें जिसमें करीब 25000 श्रद्धालु रवाना हुए।

-----
लिंक शेयर करें