Breaking News

एसटीएफ के रडार पर यूपी के पेट्रोल पम्‍प, अब तक 13 पम्‍प हुए सील

लखनऊ: इलेक्ट्रानिक डिवाइस के जरिए पेट्रोल की घटतौली करने वाले पेट्रोल पंप डीलरों के खिलाफ उत्तर प्रदेश की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) और तेल कंपनियों का अभियान अनवरत जारी है। इस सिलसिले में राजधानी लखनऊ में अब तक 13 पेट्रोल पंपों को सील कर दिया गया है जबकि 24 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

उत्तर प्रदेश पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन बी.एन. शुक्ला के तीन पेट्रोल पंपों में छेड़छाड़ पाए जाने के बाद उन्हें बंद कर दिया गया है। छापे के बाद शुक्ला अपने बेटे के साथ फरार हैं। एसटीएफ, वाट-माप विभाग के कर्मचारियों और तेल कंपनियों के कर्मचारियों ने छापे की कार्रवाई की। विशेष सूचना के बाद एसटीएफ ने गत शुक्रवार रात से ही शहर में पेट्रोल पंपों की जांच करना शुरू कर दिया था। पेट्रोल पंपों में चिप लगाकर वाहनों में मूल्य के अनुपात से कम तेल भरने की धांधली लम्बे स्तर पर चल रही है। 25 में से 13 पेट्रोल पंपों में जांच के दौरान छेड़छाड़ के सबूत पाए गए।

अधिकारियों ने बताया कि आने वाले दिनों में, पंपों के मालिकों पर कार्रवाई की जाएगी। पूरे रैकेट की जांच के लिए निरीक्षक-और उप-निरीक्षक स्तर के अधिकारियों की 7 सदस्यीय पुलिस टीम का गठन किया गया है जो सीधे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की निगरानी में काम करेगी। एसटीएफ ने अब तक 24 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनमें अधिकांश पेट्रोल पंप के कर्मचारी हैं। एसटीएफ चोरी के मामले में तेल कंपनियों की मदद लेने के अलावा पेट्रोल पंप मशीन बनाने वाली कंपनी गिलबर्को और मिडको से भी संपर्क में है जिससे तेल चोरी के नायाब तरीके को ढूढ़ने में मदद मिल सके।

-----
लिंक शेयर करें