Breaking News

मोदी ने किया पातंजलि आयुर्वेद सेण्‍टर का उदघाटन : बाबा रामदेव ने मोदी को बताया राष्‍ट्रऋषि

हरिद्वार: बाबा केदारनाथ के दर्शन करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हरिद्वार पहुंचे और यहां पर पंतजलि के आयुर्वेदिक रिसर्च सेंटर का उद्घाटन किया। इस दौरान बाबा रामदेव और उनके शिष्य आचार्य बालकृष्ण भी वहां मौजूद रहे। बाबा रामदेव ने खुद पीएम को सारी लैब के बारे में जानकारी दी। मोदी ने पूरी लैब का जायजा लिया और बारीकी है वहां होने वाले काम को जाना।

मोदी राष्ट्र ऋषि- रामदेव
हरिद्वार में अभिवादन करते हुए योगगुरु रामदेव ने कहा कि पीएम ने देश का गौरव बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि मोदी देश को वरदान के रूप में मिले हैं। उनका राष्ट्र ऋषि के रूप में सम्मान होना चाहिए। रामदेव ने कहा कि मोदी राष्ट्र ऋषि के रूप में हमेशा याद किए जाएंगे। बाबा रामदेव ने साथ ही कहा कि देश में अमीर-गरीब, छोटा-बड़ा, पिछड़ा-दलित, यहां की 125 करोड़ आबादी मोदी में अपना स्वरूप देखता है। उन्होंने कहा कि पीएम ने भारत को विश्व गुरु का दर्जा दिलाया। मोदी में विश्व का नेतृत्व करने का सामर्थ्य है जो भी मोदी जी कर रहे हैं उसमें एक आहूति मेरी भी होगी। साथ ही योगगुरु रामदेव और आचार्य बालकृष्ण ने पीएम मोदी का सम्मान करते हुए उन्हें उनकी एक तस्वीर भेंट की।

बाबा रामदेव ने मेरी जिम्मेदारी बढ़ा दी- मोदी
पीएम मोदी ने अफने संबोधन में कहा कि मुझे केदारनाथ जाकर बाबा के दर्शन करने का सौभाग्य मिला और वहां से आप सबके बीच आने और आशीर्वाद पाने का मौका मिला। उन्होंने कहा, ‘जिन लोगों ने मेरा लालन-पालन किया, शिक्षा दी, उनसे मैं भली-भांति जानता हूं कि आपको जो भी सम्मान मिलता है, उसके पीछे लोगों की अपेक्षाएं होती हैं। ऋषि का सम्मान देकर देकर उन्होंने मेरी जिम्मेदारियां बढ़ा दी।’ बाबा ने इस तरह सम्मान देकर मुझे सरप्राइज दे दिया।’ उन्होंने कहा कि मुझे देश के लोगों पर खुद से ज्यादा भरोसा है, वे मेरी ऊर्जा का स्त्रोत हैं।

पंतजलि रिसर्च सेंटर का महत्व
पतंजलि के आयुर्वेद रिसर्च सेंटर में करीब 200 वैज्ञानिक अलग-अलग जड़ी बूटियों पर रिसर्च होगा। आयुर्वेद रिसर्च सेंटर के साथ बाबा रामदेव ने एक हर्बल गार्डन भी तैयार किया है। यह रिसर्च सेंटर करीब 200 करोड़ रुपए की लागत से तैयार किया गया है। यह देश का सबसे बड़ा आयुर्वेदिक रिसर्च सेंटर है।

-----
लिंक शेयर करें