Breaking News

अम्‍बेडकरनगर समेत 7 जिलों के एसपी रियलिटी चेकिंग में पास : आईजी ने किया फोन, हुई रोचक बातें

  • रियलिटी टेस्‍ट में पास पुलिस कप्‍तानों को मिलेगा प्रशस्ति पत्र
  • लापरवाह पुलिस कप्‍तानों से तलब किया गया स्‍पष्‍टीकरण

लखनऊ: न्‍यूज केबीएन

सतीश गणेश, आईजी लखनऊ

उत्तर प्रदेश की वर्तमान कानून व्यवस्था को लेकर शुक्रवार देर शाम पुलिस महानिरीक्षक (आइजी) लखनऊ जोन सतीश गणेश ने एक रियल्टी चेक अभियान चलाया। आइजी जोन के इस अभियान में 11 जिलों में से लखनऊ सहित सात जिलों के पुलिस कप्तान पास हो गए। दो जिलों के कप्तान फेल हो गए वहीं दो कप्तानों ने फोन ही नहीं उठाया। टेस्ट में पास कप्तानों को प्रशस्तिपत्र दिया जायेगा, जबकि लापरवाह कप्तानों से स्पष्टीकरण मांगा गया है। इस रियल्टी टेस्ट के दौरान जब आइजी ने अमेठी के एसपी को एक फरियादी बनकर फोन किया तो एसपी अनीस अहमद अंसारी ने आईजी से यह तक कह दिया कि तुम पढ़े-लिखे नहीं हो क्या। कुछ लापरवाह कप्तानों के रैवये से आईजी बेहद नाराज हुए तो बाद में कप्तानों के खूब पेंच कसे।

अमेठी के कप्‍तान बोले पढ़े लिखे नहीं हो क्‍या

आईजी सतीश गणेश ने फोन पर कहा कि साहब हम कानपुर से बोलत हैं, हमरे भाई के कमरौली में बदमाश मार डाले रहेन, अब हमका धमकी देत हैं। फरियादी बनकर कप्तानों का इम्तिहान ले रहे आईजी जोन ने सुबह अमेठी के एसपी अनीस अहमद अंसारी को उनके सीयूजी पर कॉल की। कप्तान बोले कि उस मामले में तो कार्यवाही हो चुकी है, चार लोग जेल जा चुके हैं। बात आगे बढ़ाने से खफा एसपी बोले कि ‘तुम पढ़े-लिखे नहीं हो क्या’ इस पर आईजी ने फोन काट दिया।

रोहन पी कनय बोले : आफिस में आकर बताओ क्‍या है समस्‍या

सीतापुर के एसपी ने अपना सीयूजी फोन गनर को थमा रखा था। हरदोई के एसपी ने कॉल रिसीव कर के मोबाइल अपने पेशकार को थमाया। खीरी के एसपी ने जंगल कटान की शिकायत पर वन विभाग पर डाल दिया। आईजी ए सतीश गणेश ने कप्तानों का रवैया जानने के लिए एक मोबाइल फोन से सबसे पहले सुल्तानपुर के एसपी रोहन पी कनय को कॉल की। उन्होंने कहा कि साहब पाटीदार हमरी जमीन पर कब्जा करत है, चंदापुर एसओ साहब नाही सुनता है। बतावा हम का करी हमार का तो सुनवाई नाही होत बा, साहब हमार मदद कर दो। एसपी ने कहा कि धैर्य रखो तुम्हारी पूरी सुनवाई होगी अभी मैं परेड में हूं हमारे ऑफिस आकर बताओ क्या समस्या है। इसके बाद अमेठी कॉल की, फिर सीतापुर के एसपी का सीयूजी नंबर डायल किया, मोबाइल फोन गनर के पास मिला। दो बार कॉल करने के बाद भी एसपी से बात नहीं हो पाई।

एसपी पीयूष श्रीवास्‍तव बोले : अर्जेण्‍ट हो तो आ जाओ

अंबेडकर नगर के एसपी पीयूष श्रीवास्‍तव ने कॉल तो रिसीव की पर डीआईजी के मुआयने की जानकारी देते हुए कहा कि अर्जेंट हो तो आज ही आओ वरना कल दफ्तर में आना। इसके बाद लखीमपुर के एसपी शिवासिम्मी चनप्पा को कॉल की। इस बार फरियादी के बजाए मुखबिर के रूप में आईजी आवाज बदलकर बोले साहब संपूर्णानगर में जंगल में कटान कटाई हो रही है। माजरा समझे बगैर कप्तान ने वन विभाग को कॉल करने की सलाह दी, फिर बोले देखते हैं और उस फोन को काट दिया।

उन्नाव की एसपी नेहा पांडे ने दो बार कॉल तो रिसीव नहीं की लेकिन बात नहीं हो सकी। एक अन्य नंबर से आई जी ने पत्रकार बनकर जानकारी मांगी तो एसपी ने पूरा ब्यौरा बताया। आईजी राजधानी के एसएसपी दीपक कुमार भी कप्तान के इम्तिहान में पास हुए। हरदोई के एसपी विपिन मिश्रा ने कॉल रिसीव की और शिकायत नोट करने की बात कहकर मोबाइल फोन अपने पेशकार को थमा दिया। रायबरेली के एसपी गौरव सिंह को एक पुरानी वारदात के बाद भी बताकर कॉल की एसपी ने वारदात के खुलासे का भरोसा दिलाया।

-----
लिंक शेयर करें