Breaking News

जानिए धोनी के शानदार क्रिकेट कैरियर के बारे में

नई दिल्‍ली। भारत के सबसे सफल और विश्व कप विजेता कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने वनडे और टी-20 टीमों की कप्तानी छोड़ दी है लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ इसी महीने दोनों फार्मेट में होने वाली सीरीज में खिलाड़ी के रूप में खेलने के लिये वह उपलब्ध रहेंगे। आइए जानते है धोनी के क्रिकेट करियर का सफर –ms-dhoni-story-

धोनी के क्रिकेट करियर का टर्निंग प्‍वाइण्‍ट
धोनी क्रिकेट करियर शुरुआत करते हुए 2003-04 में इंडिया A की तरफ किया था। 
यह टूर धोनी के करियर का टर्निंग पॉइंट साबित हुआ। केन्या दौरे पर केन्या, भारत A और पाकिस्तान A के बीच खेली गई त्रिकोणीय सीरीज में धोनी ने शानदार रन किए। यहां खेली गईं 6 पारियों में माही ने 2 शतक समेत कुल 362 रन बनाए। धोनी की इस परफॉर्मेंस से टीम इंडिया के उस वक्त के कैप्टन सौरव गांगुली बहुत प्रभावित हुए और इसके बाद उन्हें टीम इंडिया में खेलने का मौका मिला।

डेब्यू मैच में धोनी ने बनाया था ‘0’ रन
महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी पहली इंटरनैशनल पारी में 0 रन बनाए थे। इन्होंने अपनी इंटरनैशनल पारी  बांग्लादेश के खिलाफ की और पहले मैच में 7वें नंबर पर खेलने उतरे और वह पहली ही बॉल पर रन आउट हो गए।

धोनी ने 5वें वनडे में ही किया कमाल
विशाखापत्तनम के मैदान पर 2004-05 में पाकिस्तान के खिलाफ धोनी अपने करियर का 5वां मैच ही खेल रहे थे कि उन्हें नंबर 3 पर बैटिंग करने गए। धोनी ने 148 रन की पारी खेल कर नया कीर्तिमान रच दिया। इस मैच में धोनी ने 15 चौके और 4 छक्के जमाए। इस पारी के बाद धोनी ने क्रिकेट में अपना नया मुकाम बना लिया। 

वनडे के बाद टैस्ट में मौका
वनडे क्रिकेट में एक साल तक शानदार खेल दिखाने के बाद साल 2005 में धोनी को टैस्ट टीम में खेलने का मौका मिल गया। 

वनडे और टैस्ट मैच में मिल गई थी कप्तानी
इसके बाद T20 क्रिकेट शरू हुआ और धोनी को इसका कप्तान चुना गया। धोनी ने अपनी कप्तानी में पहला ही टी20 विश्व कप भारत की झोली में डाल दिया। इसके बाद धोनी को वनडे और फिर टैस्ट टीम की कप्तानी भी मिल गई।

183* है धोनी का सर्वश्रेष्ठ स्कोर
साल 2005 में श्री लंका के खिलाफ जयपुर में खेले गए एक मैच में भारतीय टीम 299 रन के लक्ष्य का पीछा कर रही थी। इस मैच में धोनी को नंबर 3 पर बैटिंग करने के लिए भेजा गया। धोनी ने यहां ताबड़तोड़ बैटिंग कर 145 गेंदों पर नाबाद 183 रन बनाकर भारत को मैच जिता दिया। यह दुनिया के किसी भी विकेटकीपर बैट्समैन द्वारा बनाया गया सर्वोच्च स्कोर है।

टैस्ट में भी शानदार रहे धोनी
धोनी ने 2014 में अपने टैस्ट करियर को अलविदा कह दिया। अपने 9 साल के टेस्ट करियर में धोनी ने 90 टेस्ट मैच खेले और 38 के औसत से रन बनाए। टेस्ट में धोनी का सर्वाधिक स्कोर 224 रन है, जो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध 2013 में बनाया था। इसके अलावा उन्होंने विकेट के पीछ 256 कैच लपके और 38 स्टंप अपने नाम किए। इसी तरह T20 में धोनी ने 35 की औसत से रन बनाए हैं। T20 में अब तक वह 41 कैच और 22 स्टंप अपने नाम कर चुके हैं।

अब तक धोनी ने वनडे में बनाए 9110 रन 
सीमित ओवर में भारत के कप्तान धोनी अब तक 283 मैच खेल चुके हैं और करीब 51 के औसत से खेल रहे धोनी 9110 रन बना चुके हैं, जिसमें 9 शतक और 61 अर्द्धशतक उनके नाम हैं।

-----
लिंक शेयर करें