Breaking News

चण्‍डीगढ़ नगर निगम चुनाव में भाजपा को 20 सीटों के साथ पूर्ण बहुमत

– नोटबन्‍दी का भाजपा को मिला बेहतर परिणाम, 20 साल बाद जीती है भाजपा

– 22 सीटों पर ही लड़ा था बीजेपी ने चुनाव, कांग्रेस को मिलीं केवल 4 सीटें

भाजपा की जीत पर हाथों में झण्‍डा लिए हुए उत्‍साहित भाजपा कार्यकर्तागण

चण्‍डीगढ़।

भारतीय जनता पार्टी की नोटबन्‍दी के निर्णय पर चण्‍डीगढ़ की जनता ने मुहर लगा दी है। नोटबन्‍दी के बाद हो रही तमाम आलोचनाओं के बावजूद जनता ने नगर निगम में चुनाव में भाजपा को 20 सीटों पर विजय श्री  मिली है। जबकि कांग्रेस को केवल 4 सीटें ही मिली हैं। भाजपा ने कुल 22 सीटों पर चुनाव लड़ा था।

विधानसभा चुनाव के पहले पंजाब में बीजेपी के लिए खुशखबरी है। चंडीगढ़ नगर निगम के चुनाव में बीजेपी ने 26 में से 20 वार्डों में जीत दर्ज की है। शिरोमणि अकाली दल को एक सीट मिली है। कांग्रेस 4 सीटों पर सिमटकर रह गई। 1996 के बाद बीजेपी को बहुमत मिला है। बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह ने कहा कि जीत बताती है कि लोगों ने नोटबंदी के फैसले को पास कर दिया। वोटिंग रविवार को हुई थी। चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव के दौरान 122 कैंडिडेट मैदान में थे। इनमें से 67 निर्दलीय थे। बीजेपी ने इस बार 22 सीटों पर चुनाव लड़ा था। 57 फीसदी वोट बीजेपी को मिले। बता दें कि चुनाव 26 सीटों पर लड़े गए। 9 सीट पर नॉमिनेटेड पार्षद होते हैं। एक वोट सांसद का होता है। इस लिहाज से 35 सीटें होती हैं।

भाजपा के नेताओं ने क्‍या कहा

अमित शाह ने कहा, “बीजेपी को सपोर्ट करने के लिए चंडीगढ़ के लोगों का शुक्रिया। 8 नवंबर के बाद हर चुनाव में जीत ये बताती है कि लोगों ने नोटबंदी के फैसले को पास कर दिया।” वहीं दूसरी तरफ अरुण जेटली के मुताबिक, “जबरदस्त जीत पर चंडीगढ़ के लोगों और बीजेपी कार्यकर्ताओं को बधाई।”

 

1996 से था कांग्रेस का कब्‍जा

चण्‍डीगढ़ नगर निगम पर 1996 से ही कांग्रेस का कब्‍जा था। स्थिति  यह थी कि अभी तक चण्‍डीगढ़ नगर निगम के चुनावों में किसी भी पार्टी को 20 सीटें नहीं मिली थीं। 2016 में चुनाव होने तक चंडीगढ़ नगर निगम में सत्ता में कांग्रेस काबिज थी। बीजेपी और शिरोमणि अकाली दल के 15 पार्षद थे। 2014 में 3 और 2015 में 1 कांग्रेस पार्षद ने बीजेपी का दामन थाम लिया था।

-----
लिंक शेयर करें