Breaking News

सहारनपुर हिंसा का मुख्‍य आरोपी भीम आर्मी का चन्‍द्रशेखर उर्फ रावण गिरफ्तार

सहारनपुर/हिमाचल: पिछले दिनों सहारनपुर जिले में हुए सांप्रदायिक हिंसा मामले में सूबे की कानून व्यवस्था पर उठे सवालों पर आज अंकुश लग गया है। विगत 5 मई को सहारनपुर के विभिन्न स्थानों पर हुए जातीय दंगे और पुलिस पर किए गए पथराव व फायरिंग के मामले में मुख्य आरोपी बनाए गए भीम आर्मी के संस्थापक अधिवक्ता चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण को आज हिमाचल प्रदेश से गिरफ्तार कर लिया गया है। यह कार्रवाई यूपी और हिमाचल प्रदेश पुलिस ने संयुक्त रूप से की है। बता दें कि वह हिमाचल के डल्हौजी में एक दलित नेता के घर छुपे हुए था।

5 मई को जातीय हिंसा में जला था सहारनपुर
गौरतलब है कि विगत 5 मई को सहारनपुर के बड़गांव थाना क्षेत्र के गांव शब्बीरपुर में दलित और ठाकुरों के बीच जातीय संघर्ष हो गया था। इसके बाद 9 मई को भीम आर्मी एकता मिशन के कार्यकर्ता 5 मई के दंगे में पकड़े गए दलितों की रिहाई की मांग को लेकर शहर के गांधी पार्क में एक सभा आयोजित करने जा रहे थे, लेकिन प्रशासन ने इस सभा की अनुमति नहीं दी थी।

दलितों और पुलिस के बीच जमकर हुआ था बवाल 
फिर गांधी पार्क में शांतिपूर्वक धरना दे रहे दलित युवकों को हिरासत में लिया था। इन युवकों को हिरासत से रिहा करने पर गांव रामनगर में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। इन युवाओं को जब पुलिस रोकने गई तो आरोप है कि दलितों और पुलिस के बीच जमकर बवाल हुआ था, जिसमें करीब दो दर्जन वाहनों को आग लगा दी गई थी।

हिंसा का मास्रटमाइंड चंद्रशेखर बवाल के बाद से था फरार
इसके बाद से चंद्रशेखर फरार चल रहा था। 23 मई को गांव शब्बीरपुर में बसपा सुप्रीमो मायावती गईं तो उनके वापस लौटने पर बलवाइयों ने एक दलित की हत्या कर दी थी और 7 को गंभीर रूप से घायल कर दिया था।

चंद्रशेखर की तलाश में थी पुलिस
तभी से सहारनपुर पुलिस और क्राइम ब्रांच की कई टीम चंद्रशेखर आजाद की गिरफ्तारी के लिए न केवल आसपास के जनपद बल्कि पड़ोसी राज्यों में भी चंद्रशेखर की तलाश कर रही थी। चंद्रशेखर के भाई कमल किशोर को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था।

इस तरह पकड़ा गया चंद्रशेखर उर्फ रावण
दरअसल पुलिस को चंद्रशेखर की लोकेशन पंजाब और हिमाचल प्रदेश में मिल रही थी, जिसके बाद कई दिनों से सहारनपुर पुलिस हिमाचल में डेरा डाले हुए थी। गुरुवार को पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए चंद्रशेखर को हिमाचल प्रदेश के डलहौजी नामक स्थान से गिरफ्तार कर लिया है। यहां पर चंद्रशेखर एक दलित नेता के यहां शरण लिए हुए था। हालांकि इस बाबत एसएसपी से वार्ता का प्रयास किया गया, लेकिन न तो एसएसपी और न ही डीएम कॉल रिसीव कर रहे हैं।

-----
लिंक शेयर करें