Breaking News

भगवान शिव पर जलाभिषेक की तैयारियां पूरी, अधिकारियों ने लिया जायजा

– बिड़हर घाट से लेकर महाभारतकालीन तामेश्‍वरनाथ धाम में लिया सुरक्षा का जायजा

– बेहतर व्‍यवस्‍था बनाने के लिए दिए गए दिशा निर्देश, कांवडि़यों की भी होगी सुरक्षा

संतकबीरनगर। न्‍यूज केबीएन

सोमवार से शुरु होने वाले श्रावण मास पर जिले के विभिन्‍न शिवालयों व महाभारतकालीन तामेश्‍वरनाथ मन्दिर में होने वाले जलाभिषेक को लेकर सुरक्षा की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इसे लेकर जिले के उच्‍चाधिकारियों ने बिड़हरघाट से लेकर अन्‍य स्‍थानों का जायजा लिया।

बिड़हर घाट में सरयू नदी में जल भरने वाले स्‍थल का जायजा लेते हुए जिलाधिकारी मारकण्‍डेय शाही व एसपी हेमराज मीना

सावन मास की शुरुआत 10 जुलाई से हो रही है। सावन में ग्रहों का भी विशिष्ट संयोग बन रहा है। इसी के साथ कई त्योहार भी होंगे। प्रत्येक सोमवार को विशिष्ट योग बन रहे हैं। जिसे लोगों के लिए लाभकारी माना जा रहा है। सावन मास का पहला दिन और सोमवार पड़ने के कारण इस बार काफी महत्व माना जा रहा है। जिले के शिव मंदिरों में साफ-सफाई हुई और सोमवार को जलाभिषेक कार्यक्रम की तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया।

बिड़हर घाट में सरयू नदी में जल भरने वाले स्‍थल का जायजा लेते हुए जिलाधिकारी मारकण्‍डेय शाही व एसपी हेमराज मीना साथ में अन्‍य पुलिस अधिकारीगण

जिलाधिकारी मारकण्‍डेय शाही के साथ ही एसपी हेमराज मीना ने महाभारतकालीन तामेश्‍वरनाथ धाम से लेकर सरयू तट पर स्थित बिड़हर घाट में जल भरने वाले स्‍थान का निरीक्षण किया। इस दौरान पुलिस बल को यह निर्देश दिया गया कि सभी पुलिस अधिकारी व अन्‍य लोग पूरी स्थिति पर नजर रखें।सावन मास को लेकर भक्तों के अलावा मंदिरों में भी तैयारी शुरू हो चुकी है। श्रावण माह का पहला सोमवार 10 जुलाई को है। भगवान शिव की आराधना का महीना शुरू होने से पूर्व शहर सहित ग्रामीण अंचलों के शिवालयों में पूजा-अर्चना की तैयारी जोर शोर से चल रही है। वर्तमान में मंदिर की सफाई रंग रोगन का काम अंतिम दौर में चल रहा है। लोग उत्साहवश जल्द से जल्द काम निपटाना चाह रहे है। मंदिरों में विशेष सजावट करने समिति प्रबंधन कर रहे है। सावन में भक्तों का जत्था कांवर लेकर धूमधाम से बाबाधाम के लिए निकलेगा।

सरयू के तट पर एसपी व डीएम

शहर के शिव मंदिरों समेत अन्य मंदिरों में सावन मास की विशेष तैयारी की जा रही है, ताकि भक्तों को भोलेनाथ के दर्शन में कोई दिक्कत न हो। मंदिर की दीवारों की साफ-सफाई रंग रोगन का कार्य शुरू हो चुका है। वहीं, पूजन सामग्री बेचने के लिए अस्थायी दुकान लगाने की तैयारी चल रही है। सावन का पहले सोमवार को भगवान शिव की विशेष पूजा करने से लाभ होगा। इस दिन खड़ा चावल, बेलपत्र, पंचामृत से शिवजी को स्नान कराएं। इसके अलावा बाकी सोमवार भी विशेष रहेगा। सोमवार को भगवान शिव का भव्य श्रृंगार कर जलाभिषेक किया जाएगा। वहीं, अलग-अलग सोमवार को फूल, बेलपत्र, केला का पत्ता से भगवान शंकर का श्रृंगार होगा।

 

-----
लिंक शेयर करें