Breaking News

बेगलुरु में मीडिया के सामने कांग्रेस ने गुजरात के विधायकों की कराई परेड

बेंगलुरुः गुजरात के विधायकों को जबरदस्ती बेंगलुरु भेजने और मोबाइल तक छीनने की खबर पर विराम लगाने ले लिए पार्टी ने रविवार को विधायकों को मीडिया से रूबरू कराया। बेंगलुरू के एक रिजार्ट में ठहरे 44 विधायकों मीडिया के समाने लाते समय कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि सभी विधायक अपनी मर्जी से आए हैं। साथ ही विधायकों के मोबाइल छीने जाने की खबर को झूठा करार दिया। उन्होंने कहा कि हम लोकतंत्र की रक्षा करने की लड़ाई लड़ रहे हैं। 

विधायकों को 15 करोड़ का ऑफर

शक्ति सिंह गोहिल ने बीजेपी पर कांग्रेस को तोड़ने के साम, दाम, दंड, भेद समेत हर तरह के हठकंडे अपनाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकारी मिशनरी का दुरुपयोग कर रही है। उन्होंने बताया कि बीजेपी की चाल थी कि कांग्रेस के कुल 22 विधायकों को पैसे से खरीदकर इस्तीफा दिलवाया जाए। इसके लिए विधायकों को 15-15 करोड़ रुपये का लालच दिया गया लेकिन हमारे विधायक नहीं बिके।

हमारे पास पर्याप्त विधायक

कांग्रेस नेता ने कहा कि अहमद पटेल को जीतने के लिए 45 विधायकों के वोट की जरूरत है और उसके लिए कांग्रेस के पास पर्याप्त से ज्यादा विधायक हैं। गोहिल ने कहा, ‘कांग्रेस के 57 विधायक हैं। एनसीपी के साथ हमारा सीटों का गठबंधन था जिसके 2 विधायक हैं। एक जेडीयू के साथी हमारे साथ हैं। एेसे में पार्टी के पास कुल 60 विधायक हैं।

यहां आना विधायकों का अपना फैसला

शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि बीजेपी को बाढ़ से मर रहे लोगों की चिंता नहीं है। बल्कि, वह कांग्रेस तोडऩे में लगी है। उन्होंने कहा कि फेक एनकाउंटर का आरोपी आईपीएस अफसर हमारे आदिवासी विधायक को गाड़ी में बैठाकर ले गया और बोला कि अमित शाह से मिलवाएंगे। वहां विधायकों की सुरक्षा का भी खतरा था। इसीलिए विधायकों का ही फैसला था कि हम एकजुट रहें और विधायक लोकतंत्र की रक्षा के लिए यहां आए हैं।

वे भी सुनेंगे अंतरात्मा की आवाज

कांग्रेस नेता ने कहा कि बीजेपी ने 6 विधायकों से इस्तीफा तो दिलवाया दिया। लेकिन 7 विधायकों ने अभी तक इस्तीफा नहीं दिया है। उन्होंने कहा कि वे 7 विधायक कांग्रेस उम्मीदवार को ही वोट देंगे। गोहिल ने कहा कि उन्हें यह भी उम्मीद है कि इस्तीफा दे चुके विधायक भी अगर अंतरात्मा की आवाज सुनेंगे तो कांग्रेस को ही वोट देंगे।

-----
लिंक शेयर करें