Breaking News

चीन के झूठ से उठा पर्दा, भारत ने डोकलाम से नहीं हटाए अपने सैनिक

नई दिल्ली: एक बार फिर चीन के झूठ से पर्दा उठ गया है। भारत ने चीन के इस दावे का जोरदार शब्दों में खंडन किया है कि उसने भारत-चीन- भूटान ट्राइ जंक्शन के निकट डोकलाम में तैनात अपने सैनिकों की संख्या में भारी कमी कर दी है और अब वहां केवल 40 भारतीय सैनिक तैनात हैं। सूत्रों ने साफ शब्दों में कहा कि डोकलाम में पहले की तरह यथास्थिति बनी हुई है। भारतीय सैनिक जिस जगह पर और जितनी संख्या में तैनात थे उसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है।

चीन हर रोज खोज रहा है नया तरीका
चीनी दूतावास के जारी वक्तव्य में दावा किया गया है कि भारत ने डोकलाम में तैनात सैनिकों की संख्या में भारी कमी की है और अब वहां उसके 400 के बजाय केवल 40 सैनिक बच गए हैं। दोनों देशों की सेनाओं के बीच पिछले डेढ़ महीने से इस क्षेत्र में गतिरोध बना हुआ है और चीन भारत पर दबाव बनाने के लिए लगभग हर रोज नया पैंतरा चल रहा है। चीन द्वारा इस क्षेत्र में 16 जून को सड़क बनाए जाने की कोशिशों को देखते हुए 18 जून को भारत ने डोकलाम में अपने लगभग 350 सैनिक तैनात कर उसकी इस कोशिश को विफल कर दिया था। इस क्षेत्र में चीन के भी लगभग इतने ही सैनिक हैं और इस घटनाक्रम के बाद से दोनों सेनाओं के बीच गतिरोध बना हुआ है। भारतीय सैनिक भीषण ठंड, बारिश और प्रतिकूल मौसम के बावजूद अपनी जगह पर मजबूती से डटे हुए हैं।

डोभाल ने की थी मुद्दा सुलझाने की कोशिश
ब्रिक्स देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक में भाग लेने के लिए चीन गए भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने इस मुद्दे पर चीन के अपने समकक्ष और चीनी राष्ट्रपति से बातचीत भी की थी। हालांकि इस बातचीत से गतिरोध दूर होने के कोई संकेत सामने नहीं आए। चीन के आज जारी वक्तव्य में कहा गया है कि 18 जून को भारत के 400 से अधिक सैनिक 2 बुलडोजरों और हथियारों के साथ चीन की सीमा में घुस 180 मीटर अंदर तक घुस आये थे और वहां तीन टेंट लगा लिए। उसने कहा है कि जुलाई के अंत तक वहां तैनात भारतीय सैनिकों की संख्या केवल 40 रह गयी है और अब वहां केवल एक बुलडोजर ही है।

-----
लिंक शेयर करें