Breaking News

दुष्प्रचार करने वालो से निपटेगी सरकार : कुमार अशोक पाण्डेय (रिपोर्ट- विजय गुप्ता)

दुष्प्रचार करने वालो से निपटेगी सरकार – कुमार अशोक पाण्डेय

संंतकबीरनगर, न्यूज़ केेेबीएन : 
– सीएए व एनआरसी पर सोशल मीडिया के जरिए तथाकथित राजनैतिक पार्टियो के राजनेताओ द्बारा दुष्प्रचार फैलाने वालो के खिलाफ सरकार सख्ती से निपटेगी उक्त आशय की जानकारी देते हुए अल्पसंख्यक समुदायो को सी ए ए और एन आर सी के बारे मे जागरूक व उसकी अच्छाइयो के बारे मे बताते हुए पठान टोला व मड़या मे भाजपा प्रवक्ता कुमार अशोक पाण्डेय ने बताया कि जो बिल राज्यसभा लोकसभा व राष्ट्रपति के पटल से प्रस्तावित होकर संवैधानिक रूप ले लिया हो जिसे गृह मंत्रालय , प्रधानमन्त्री व राष्ट्रपति जैसे महामहिम लोग साफ तौर से देश की जनता के लोगो को बता दिया है कि इस बिल से भारत मे रहने वाले लोग व उनकी नागरिकता पर किसी भी प्रकार का कोई खतरा नही है । बल्कि जो अफगानिस्तान , बांग्लादेश , पाकिस्तान मे रह रहे अल्पसंख्यक समुदाय हिंदू , सिख , ईसाई , बौद्ध , जैन जैसे लोगो का जिनका उत्पीड़न किया गया है और वह हमारे देश शरणार्थी / विस्थापित रूप से जीवन व्यतीत कर रहे है । जिन्हे नागरिकता नही मिल पायी है और तथाकथित राजनेताओ द्बारा सत्ता मे पहुंचने के लिए उनका इस्तेमाल किया गया , जिसे आसाम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई द्बारा ब्रेन चाइल्ड का नाम दिया गया , उनके लिए ये बिल कारगर सिद्ध होते हुए नागरिकता प्रदान करायेगी । उन्हे उनका अधिकार दिया जायेगा । भारत मे रहने वाले मुस्लिम अल्पसंख्यक समुदाय के लोगो से अनुरोध है कि किसी भी राजनेता के भड़काऊ भाषण की तरफ ध्यान न दे । क्यो कि ऐसे लोग मुस्लिम तुष्टिकरण की राजनीति करने के लिए किसी भी हद तक अपना निज हित साधते हुए जा सकते है । बगैर किसी राजनैतिक पार्टी का नाम लिए भाजपा प्रवक्ता श्री पाण्डेय ने कहा कि कुछ ऐसे लोग है जो सोशल मीडिया के जरिये उनका इस्तेमाल करते हुए तरह – तरह की अफवाहें फैला करके देश की अमन व शांति मे खलल पैदा कर रहे है ऐसे लोगो को हमारी सरकार चिन्हित कर रही है और कार्यवाही भी सुनिश्चित करा रही है । सूचना तंत्र के प्रभावी न होने से आज देश का चौथा स्तम्भ समाज के कटघरे मे खड़ा हो गया है । क्यो कि कही न कही इनका भी हरास हुआ है । आज हम सभी लोगो को इस पर विचार करना चाहिए और अपने – अपने दायित्वो का जो भी जिस किसी भी क्षेत्र मे हो बखूबी निर्वहन करना चाहिए । विशेषकर राजनेता और मीडिया के लोग अपने – जगह पर रहते हुए अपनी जिम्मेदारी समझे और जनता को जागरूक करने का काम करे । विदेशी ताकते जो सी ए ए और एन आर सी जैसे संवैधानिक बिल को लेकर सोशल मीडिया के जरिये अफवाहो को फैला रही है उन्हे भी हम और हमारी सरकार मुंहतोड़ जवाब देगी । इसके लिए आगामी ग्यारह जनवरी को हमारे लोग सरकार का पक्ष रखते हुए सी ए ए और एन आर सी के बारे मे जानकारी देते हुए जागरूक करेगे ।

-----
लिंक शेयर करें