Breaking News

कोविड -19 : लाकडाउन में वरदान साबित हो रही एम्बुलेंस सेवा ( देवीलाल गुप्‍त की रिपोर्ट )

–    पूरे समर्पणभाव से कार्य रहे हैं एम्बुलेंस कर्मचारी

–    समय से पहुँच रही हैं 108, 102 और ए.एल.एस

संतकबीरनगर , 10 अप्रैल 2020

लाकडाउन में जहां हर कोई घरों में रहने को मजबूर है वहीं किसी भी मरीज को अस्पताल आने या अस्पताल से जाने में तकलीफ न हो इसके लिए एम्बुलेंस कर्मचारी दिन रात एक किए हुये हैं।

एम्बुलेंस सेवा के जिले के नोडल अधिकारी डॉ ए के सिन्‍हा ने बताया कि वर्तमान में जनपद में लोगों के लिए 108, 102 और ए.एल.एस सेवा निशुल्क उपलब्ध है। जिले में अभी हमारे पास 48 एम्बुलेंस हैं। जो 24 घंटे लोगों की सेवा के लिए गई हैं। एम्बुलेंस कर्मचारी और इमरजेंसी रिस्पांस सेंटर की टीम लोगों की सेवा के लिए युद्धस्तर पर अपनी सेवाएं दे रही है। लाकडाउन में बेहतर एम्बुलेंस सेवा से जहां कोरोना के प्रकोप से बचने में मदद मिल रही है वहीं हार्टअटैक या एक्सिडेंट समेत अन्य आपातकालीन समस्यों से निपटने में लोगों की हर संभव मदद की जा रही है। उन्होने कहा कि यह हमारे लिए गर्व की बात है हमारे सभी कर्मचारी स्वेछाभाव से एक योद्धा के रूप में सेवाएं दे रहे हैं। इसके लिए सभी कर्मचारियों का बहुत-बहुत धन्यवाद। उन्होने बताया कि वायरस कोविड-19 के प्रोटोकाल के मुताबिक फील्ड में जाने वाले एम्बुलेंस कर्मचारी कोविड-19 के प्रोटोकाल को पूरी तरह फालो कर रहे हैं।

डॉ ए के सिन्‍हा, जिला सर्विलांस अधिकारी व एम्‍बुलेंस प्रभारी

मरीज भी हैं संतुष्ट

मेरी मां की तबियत बहुत खराब हो गई थी । लाकडाउन में हम लोग घबरा गए कि सरकारी अस्पताल जायें तो कैसे जाएं। पुलिस सड़क पर जाते ही पीटने लगती है। फिर हमारे पड़ोसी ने 108 पर काल किया। हाँ, कुछ ही देर में एम्बुलेंस आ गई। फिर जिला अस्पताल पहुँच पाये। वहां पर समुचित इलाज संभव हो सका। यह एक अच्छी बात है।

मिथिलेश कुमार, मरीज का पुत्र

-----
लिंक शेयर करें