Breaking News

कोरोना के संकट में उपभोक्ताओं को राहत दे रहा स्टेट बैंक काली जगदीशपुर का ग्राहक सेवा केंद्र

गांव के नजदीक होने से महिलाओं और बुजुर्गों को मिल रहीराहत 
– ग्राहक सेवा केन्द्र पर सोशल डिस्टेसिंग का पूरी तरह से कराया जा रहा पालन
– यहाँ पर ग्राहकों को हाथ धुलने के लिए बाहर रखा गया है साबुन और सेनेटाइजर

न्यूज़ केबीएन, संतकबीरनगर : नाथनगर के काली जगदीशपुर में खुले स्टेट बैंक ग्राहक सेवाकेंद्र आस -पास के ग्रामीणों के लिए काफी मददगार साबित हो रहा है । ग्राहक सेवाकेंद्र के समीप बसे जसरौली, सिंदुरिया, धौरेपार, पुतसर, चमरिया, लोइयाभार आदि दर्जनों गांव के हजारों लोगों को अपने खाते से पैसा निकालने के लिए दूर -दराज बैंको पर नही जाना पड़ता है। गांव के नजदीक होने की वजह से लोगों को पैसा निकालने में काफी सहूलियत रहती है। इस समय लॉकडाउन की वजह से ज्यादातर घरों के पुरुष वर्ग बाहर अन्य प्रदेशों में फॅसे हुए है। मजबूर घर की महिलाओं और बुजुर्गों को घर से बाहर निकलना पड़ रहा है। इस समय बैंको पर ज्यादातर संख्या महिलाओं की ही देखी जा रही है।

गुरुवार को स्टेट बैंक ग्राहक सेवाकेंद्र से पैसा निकालने आई पुतसर निवासी मनोरमा देवी ने बताया कि घर में बूढ़ी सास के अलावा दो छोटे बच्चे ही है, उनको छोड़कर नाथनगर या खलीलाबाद जाने में काफी तकलीफ होती थी। जबसे ये केंद्र खुला है तबसे हम जैसी महिलाओं को अब पैसा निकालने दूर बैको पर नहीं जाना पड़ता है। उन्होंने बताया यहां पैसा हमेसा उपलब्ध रहता है इसलिए कभी भी वापस नही जाना पड़ता है।धौरेपार निवासी निशा देवी ने बताया कि जबसे ये केंद्र खुला है तबसे हम लोगों को बैंक में भीड़ के धक्के नहीं खाने पड़ते है। इस केंद्र पर बहुत आसानी से पैसा मिल जाता है।लगातार लॉकडाउन होने से भी इस केंद्र हमें जब भी जरूरत होती है पैसा मिल जाता है। पुतसर की एक बुजुर्ग महिला ने बताया कि उनका एक ही बेटा है जो इस समय चंडीगढ़ में है बहु भी उसी के साथ है। हम अकेले ही घर पर रहते हैं गांव के नजदीक बैंक होने से पैदल ही आकर बेटे द्वारा भेजा गया पैसा निकाल लेती हूं। उन्होंने बताया कि ई छोटका बैंक पर जो पैसा देते है ओ बहुत ही अच्छे ब्यक्ति है। कभी भी वापस नहीं लौटते हैं।
केंद्र के संचालन कर्ता कृपाशंकर ने बताया कि कुमार पांडेय ने बताया कि कोरोना जैसी भयानक बीमार के फैलने से प्रत्येक नागरिक परेशान है। लॉकडाउन की वजह से लोग घरों से बाहर नही निकल पा रहे हैं। ऐसे में मेरी पूरी कोशिस है कि यहाँ आने वाले सभी कस्टमर को संतुष्ट किया जाए। केंद्र पर प्रतिदिन लगभग 80-100 लोग पैसा निकासी और जमा के लिए आते है। हमारी पूरी कोशिस रहती है कि हमारा कोई भी ग्राहक यहाँ से निराश ना लौटने पाए। इसके साथ ही शोसल डिस्टेसिंग का भी पूरा ख्याल रखा जा रहा है। केंद्र के बाहर साबुन और से सेनेटाइजर भी रखा गया है। ग्राहकों को हाथ धुलने के बाद ही उनसे अंगूठा लगवाया जाता है । और लोगों को कोरोना से बचाव के लिए जागरूक भी किया जा रहा है।

-----
लिंक शेयर करें