Breaking News

प्रेमिका से बनी पत्‍नी, घर में ही माकरकर उस पर बनवा दिया चबूतरा

नई दिल्ली: आजकल फेसबुक दिलों को जोडऩे का माध्यम बनता जा रहा है। ऐसी ही फेसबुक से शुरू हुई प्रेम कहानी और उसके खतरनाक अंजाम के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं।

फेसबुक पर परवान चढा प्यार
जानकारी मुताबिक पश्चिम बंगाल की आकांक्षा शर्मा (26) और आईआईटी इंजीनियर उदयन दास (32) की नजदीकियां फेसबुक पर परवान चढ़ी, इतना ही नहीं दोनों ने अपने प्यार को अंजान तक पहुंचाने के लिए न्यूयॉर्क में शादी भी रचाई लेकिन इसके बाद उदय और अकाक्षां के बीच झगड़े शुरू हो गए। उदय को आकांक्षा के चरित्र पर शक होने लगा था शक इतना बढ़ गया कि उसने अपनी पत्नी को मारकर घर में दफन कर दिया और वहां चबूतरा बनवा दिया।  हत्या का खुलासा दो महीने बाद हुआ जब लड़की के पिता की शिकायत पर पुलिस जांच करने आई।

West bangal , premika, hatya, chabutra, love marrige

बाएं से आरोपित उदयन, उसका घर तथा पत्‍नी आकांक्षा

पुलिस पूछताछ में जुर्म कबूला
पुलिस ने फिलहाल आरोपी पति उदय दास को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस पूछताछ में उदय दास ने बताया कि दिसंबर में ही आकांक्षा की हत्या कर दी, और फिर घर में ही उसे दफना दिया, और उसके ऊपर कंक्रीट का चबूतरा बना दिया। पुलिस ने चबूतरा खोद कर आकांक्षा के शव को बाहर निकाला। मृतक आकांक्षा की उम्र 28 साल थी और वो पश्चिम बंगाल के बांकुरा जिले की रहने वाली थी।

दोनों प्रदेशों की पुलिस करेगी आरोपी से पूछताछ
दो महीने पहले हत्या के मामले में आरोपी उदय दास से अब दोनों प्रदेशों की पुलिस आरोपी से पूछताछ करेगी। गोविंदपुरा सीएसपी वीरेंद्र मिश्रा ने बताया कि आरोपी उदयन दास को आज ट्रांजिट रिमांड के लिए अदालत में पेश किए जाने की संभावना है, जिसके बाद बांकुरा पुलिस उसे पूछताछ के लिए पश्चिम बंगाल ले जाएगी। दूसरी ओर युवती के देर रात बरामद हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए हमीदिया अस्पताल शवगृह में रखा गया है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन को सौंपा जाएगा।

मोबाइल की लोकेशन से हुआ खुलासा
पुलिस सूत्रों के मुताबिक बांकुरा निवासी आकांक्षा शर्मा पिछले साल जून में अपने परिजन से न्यूयार्क जाने का कहकर घर से निकली थी। इसके बाद जुलाई तक उसकी अपने परिजन से वीडियो चैट के माध्यम से बात हुई, जुलाई के बाद जब उसका अपने परिजन से चैट से संपर्क टूट गया और केवल व्हाट््सऐप से उसकी अपने घर बात होने लगी, तब परिजन को उसके बारे में चिंता होने लगी।  ज्यादा समय बीतने पर परिजन ने बांकुरा पुलिस से संपर्क साधा। पुलिस जांच के दौरान आकांक्षा के मोबाइल की लोकेशन न्यूयार्क की बजाए भोपाल के गोविंदपुरा के तौर पर मिली। साथ ही उसके पासपोर्ट डिटेल के आधार पर पता चला कि आकांक्षा कभी अमेरिका गई ही नहीं।

 

-----
लिंक शेयर करें