Breaking News

बच्‍चों की नामौजूदगी में सूर्या के शिक्षकों ने देशभक्ति गीतों से बांधा शमां ( देवीलाल गुप्‍त की रिपोर्ट )

– अनोखे तरीके से मनाई गई स्‍वतन्‍त्रता की 74 वीं वर्षगांठ, जय चौबे रहे मुख्‍य अतिथि

– मनोहारी कार्यक्रम को देखकर मन्‍त्रमुग्‍ध हुए स्‍थानीय अभिभावक, शिक्षक व अतिथिगण

संतकबीरनगर, न्‍यूज केबीएन ।

कोरोना काल में स्‍वतन्‍त्रता दिवस के अवसर पर सूर्या इण्‍टरनेशनल सीनियर सेकेण्‍डरी एकेडमी का माहौल हर वर्ष से अलग दिखाई दिया। बच्‍चों की नामौजूदगी में शिक्षकों ने जमकर अपनी सांस्‍कृतिक प्रतिभा का प्रदर्शन किया और देशभक्ति गीतों से ऐसा शमां बांधा कि वहां पर उपस्थित अतिथियों के साथ ही स्‍थानीय अभिभावक भी भावविभोर हो गए।

सूर्या इण्‍टरनेशनल सीनियर सेकेण्‍डरी एकेडमी में ध्‍वजारोहण कार्यक्रम में अतिथिगण

सूर्या इण्‍टरनेशनल सीनियर सेकेण्‍डरी एकेडमी में मुख्‍य अतिथि के तौर पर खलीलाबाद के विधायक दिग्विजय नारायण चतुर्वेदी व विद्यालय के निदेशक डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी , प्रबन्‍ध निदेशक श्रीमती सविता चतुर्वेदी, सरगम चतुर्वेदी, अखण्ड प्रताप चतुर्वेदी ने संयुक्त रूप से राष्‍ट्रध्‍वज को फहराया। साथ ही दीप प्रज्जवलन व मां सरस्‍वती, संस्‍थापक पं सूर्य नारायण चतुर्वेदी व बलिदानी वीर सपूतों के चित्र पर माल्‍यार्पण किया। इस अवसर पर उपस्थित खलीलाबाद विधायक दिग्विजय नारायण चतुर्वेदी ने वैश्विक महामारी कोविड-19 से बचाव के लिए उपस्थित सभी गणमान्य व्यक्तियों को शपथ दिलाकर अपने दायित्व के निर्वहन के लिए आहवान किया। उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा कि आज हम स्वतंत्रता दिवस विषम परिस्थितियों में मनाने को बाध्य है जिसका कारण वैश्विक महामारी कोविड-19 है लेकिन हमारे उत्साह में किसी भी तरह की कोई कमी नही है। भारत सरकार और विश्व स्वास्थ्य संगठन मिलकर वैक्सीन बनाने में सतत रूप से लगे हुए है और हम आशा करते है कि जल्द ही भारत इसमें सफल होगा। साथ ही साथ विद्यालय के प्रबन्ध निदेशक डा0 उदय प्रताप चतुर्वेदी ने कहा कि आजादी पाने के लिए स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने अपने प्राणो की आहूति दिया। इस पावन दिन को हमें उन वीर सपूतो को याद कर ही रहे है साथ में आज हम इस वैश्विक महामारी में निरन्तर अपने प्राणों को जोखिम में डालकर कोरोना पीडितों की सेवा कर रहे डाक्टर्स और चिकित्सीय सहयोगियों का हृदय से आभार व्यक्त करते है। इस अवसर पर विद्यालय की प्रबन्‍ध निदेशक श्रीमती सविता चतुर्वेदी नें संबोधित करते हुए  कहा कि 74वीं स्वतंत्रता दिवस उन शहीदों के नाम है जिन्होने कोरोना महामारी से देश को सुरक्षित करने में अपने प्राणों की आहूति दी। हम उन सभी योद्वाओं के प्रति अपनी कृतज्ञता प्रस्तुत करते है तथा आशा करते है इस महामारी से देश अतिशीघ्र उबरते हुए देश निर्माण में विश्व में अग्रिम पंक्ति में खड़ा होगा। इसी क्रम में विद्यालय के प्रधानाचार्य रविनेश श्रीवास्तव नें अपने सम्बोधन में कहा कि यदि आप आजादी के आशीर्वाद का अनुभव करना चाहते है तो अपने आप को देश प्रति समर्पित होकर उनके प्रगतिशील कार्यों में अपना महत्वपूर्ण योगदान देना होगा। इस कार्यक्रम में मंच का सफल संचालन एकेडमी के उप प्रधानाचार्य शरद त्रिपाठी एवं नाजिया खातून ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में एकेडमी के शिक्षक नितेश द्विवेदी, पवन मिश्रा , अशोक चौबे, अविनाश श्रीवास्तव, घनश्याम त्रिपाठी, राकेश चौधरी, प्रतिभा श्रीवास्तव, बबिता त्रिपाठी, अर्चना त्रिपाठी समेत अन्‍य लोगों ने अपना महत्‍वपूर्ण योगदान दिया।

सूर्या सदन के निवासियों ने भी किया प्रतिभाग

इस अवसर पर सूर्या इण्‍टरनेशनल एकेडमी के सामने स्थित सूर्या सदन में रहने वाले 40 से अधिक परिवार के बच्‍चों व उनके परिजनों ने कार्यक्रम में अपनी महत्‍वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया। सूर्या सदन में रहने वाली माताओ, अभिभावकों तथा उनके बच्‍चों ने भी आकर कार्यक्रम में अपनी सहभागिता दर्ज की। बच्‍चों ने तो उत्‍साह के साथ तीन कार्यक्रमों में अ‍पनी प्रस्‍तुतियां भी दीं तथा लोगों को अपने भावनृत्‍य से भावविभोर कर दिया।

घुंघरु की तरह बजता ही रहा हूं मैं…. से मोह लिया मन

बच्‍चों की अनुपस्थिति में शिक्षकों ने सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों की जिम्‍मेदारी खुद ही ले ली थी। इस दौरान एकेडमी के वरिष्‍ठ शिक्षक अशोक चौबे ने कार्यक्रम प्रस्‍तुत करते हुए मुकेश के गीत … घुंघरु की तरह बजता ही रहा हूं मैं …. की सुमधुर प्रस्‍तुति की। वहीं एकेडमी के उप प्रधानाचार्य शरद त्रिपाठी ने …. भारत का रहने वाला हूं, भारत की बात सुनाता हूं तथा एक अन्‍य गीत की प्रसतुति से सभी का मन मोह लिया। वहीं शिक्षिका प्रतिमा श्रीवास्‍तव, पिंकी, बबिता त्रिपाठी, अर्चना त्रिपाठी ने भी बेहतर सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्‍तुति के साथ ही स्‍वागत गीत और सरस्‍वती वन्‍दना की भी प्रस्‍तुति की।

स्‍वतन्‍त्रता दिवस कार्यक्रम की अन्‍य तस्‍वीरें ………

-----
लिंक शेयर करें