Breaking News

मानवता की मिसाल! कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए यूथ लीडर वैभव ने बनवा दिया 100 बेड का अस्पताल

मानवता की मिसाल! कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए यूथ लीडर वैभव ने बनवा दिया 100 बेड का अस्पताल

प्रभा ग्रुप की इस सराहनीय पहल की चर्चा चहुंओर, जनता के मुश्किल घड़ी में वैभव चतुर्वेदी को मरीजों की पीड़ा नहीं देखा गया तो बनवा दिया अस्थाई कोविड अस्पताल…….

जिला प्रशासन को अपने खर्चे से बनवाकर 100 बेड अस्पताल जनपद के मरीजों के लिए जल्द सौंपेंगे यूथ लीडर वैभव चतुर्वेदी..…….

संतकबीरनगर। देश में कोरोना (Covid-19) का कहर जारी है. हर दिन कोरोना के रिकॉर्ड मामले सामने आ रहे हैं. लगभग हर जगह से अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की कमी की खबरें सामने आ रही हैं. इस बीच संतकबीरनगर जनपद के एक यूथ लीडर वैभव चतुर्वेदी अपने खर्चे से 100 बेड का कोविड अस्पताल बनवाकर जिला प्रशासन को सौंपने की तैयारी कर एक मिसाल पेश की है। इन्होंने यह पहली बार ऐसा नहीं किया है, जब भी कोई विषम परिस्थितियां आई है तो सबसे पहले पंक्तियों में खड़े होकर वैभव चतुर्वेदी ने समाज में सभी की मदद करके एक नजीर पेश किया है। लोग कह रहें है कि इस युवा के मन में ऐसा क्या आया की जहां एक तरफ लोग घर से नहीं निकल रहे हैं और अपना जेब बचाने में जुटे हैं, लेकिन ऐसी मुश्किल की घड़ी में यह यूथ लीडर ने 100 बेड का अस्पताल बनवाकर जनता के लिए प्रशासन को सौंप दिया!…. तो हां इसका जवाब है कि यह यूथ लीडर वैभव चतुर्वेदी ने अपने आंखो से संतकबीरनगर की जनता को बेड और आक्सीजन के लिए तड़पता हुआ वेवसी, चीखता हुआ वह मंजर देखा है। मरीजों की यह तड़प जब नहीं सहन हुआ तब वैभव चतुर्वेदी ने 100 बेड का covid हॉस्पिटल बनवाकर जनपद के मरीजों को कोई परेशानी ना उनके लिए यह अस्थाई अस्पताल जिला प्रशासन को सौंपने का फैसला कर लिया। इतना ही नहीं…! आक्सीजन और दवा के लिए मची हाहाकार में जनता की मदद के लिए यूथ लीडर वैभव चतुर्वेदी ने अपनी एक टीम बनाकर हेल्प लाइन नंबर जारी कर व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से लोगों की मदद की पेशकश शुरू कर दी। इसकी मानिटीरिंग उन्होंने खुद करते हुए लोगों की हर संभव सहायता करने में लगे हैं। प्रभा सेवा समिति के इस सराहनीय पहल की चर्चा चहुंओर होने लगी है। इसका लाभ लोगों को भरपूर मिलने लगा।
————————————————–
क्या कहते हैं वैभव…

जनपद के लिए वैभव चतुर्वेदी ने मानवता का एक ऐसा उदाहरण पेश किया है जो दूसरे लोगों के लिए अनुकरणीय बन गया है। यूथ लीडर वैभव चतुर्वेदी ने कहा, ‘बीते कुछ दिनों से कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. इसकी वजह से अस्पताल में ऑक्सीजन और बेड की कमी के कारण अपनी जान गवां बैठने की खबर देखकर मन बहुत दुःखी हुआ। मरीजों की यह बेवसी, असहनीय पीड़ा जब नहीं देखा गया तो हमने यह तय किया है कि प्रभा सेवा समिति के माध्यम से 100 बेड का अस्पताल पूरी व्यवस्था के साथ बनवाकर जिला प्रशासन को सौंप दूं, जिससे कोरोना संक्रमण से इलाज के लिए लोगों को आसानी हो सकें। उन्होंने सभी से हाथ जोड़कर निवेदन किया कि लोग घर में रहें, सुरक्षित रहें।

-----
लिंक शेयर करें