Breaking News

यूपी : अग्रहरि समाज की प्रदेश कार्यकारिणी भंग, जल्द होगी नई गठन

यूपी : अग्रहरि समाज की प्रदेश कार्यकारिणी भंग, जल्द होगी नई गठन

संतकबीरनगर। उत्तर प्रदेश अग्रहरि समाज की प्रांतीय कार्यकारिणी को संरक्षकों ने प्रदेश अध्यक्ष रमेश अग्रहरि के मनमाने रवैए तथा संविधान विरुद्ध कार्य करने के कारण व सामाजिक कार्यों में लगातार संगठनात्मक निष्क्रियता के कारण भंग का करने का आदेश पारित किया है। सूत्रों के माने तो जल्द एक नई कार्यकारिणी का गठन नए ऊर्जा के

साथ होगा। यह जानकारी पूर्व प्रांतीय महामंत्री पद के प्रत्याशी श्रवण कुमार अग्रहरि ने दी।
उन्होंने कहा कि संरक्षक उमाशंकर अग्रहरि का कहना है कि 18 दिसंबर सन 2016 में कार्यकारिणी का गठन किया गया था। जिसका कार्यकाल 17 दिसंबर सन 2019 को पूर्ण हो चुका था। संस्था के संविधान की धाराओं के अंतर्गत प्रत्येक तीन वर्ष पर कार्यकारिणी का चुनाव करवाना अनिवार्य है। जिसका पालन वर्तमान कार्यकारिणी द्वारा नहीं किया गया। वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष रमेश चंद्र अग्रहरि ने कई नियमों की अवहेलना की। साथ ही मनमाना रवैया अपनाते हुए किसी प्रकार की सूचना संरक्षकों को नहीं दी। अपने राजनैतिक स्वार्थ के कारण कार्यकाल पूर्ण हो जाने के बावजूद चुनाव न करा कर समाज को गुमराह कर पद पर लगातार बने रहने का खड़यंत्र कर रहे हैं जिसको लेकर संरक्षकों द्वारा कई बार चेतावनी दी गई। उसके बावजूद कोई सकारात्मक कार्रवाई न करने के कारण अग्रहरि समाज के संविधान द्वारा प्रदत्त अधिकारों का प्रयोग करते हुए दो तिहाई बहुमत के आधार पर संस्था के दो संरक्षक राजकपूर अग्रहरि व उमाशंकर अग्रहरि ने वर्तमान कार्यकारिणी को संविधान विरुद्ध कार्य करने व निष्क्रियता के कारण भंग करने का निर्णय लिया है। उक्त जानकारी देते हुए श्रवण कुमार अग्रहरि ने कहा कि पूर्व में चल रही मनमाने रवैये के चलते नौजवानों में निराशा व्याप्त हो रही थी, लेकिन भंग की प्रक्रिया सराहनीय योग्य है। शीघ्र ही उत्तर प्रदेश अग्रहरि समाज की नई प्रान्तीय कार्यकारिणी के गठन का मार्ग प्रशस्त होगा।

-----
लिंक शेयर करें