Breaking News

कमल के कीचड़ में धंसा हीरा हैं सांसद हुकुमदेव नारायण यादव

  • अपने इस स्‍टार पर अभी तक क्‍यों नहीं पड़ी भाजपा की नजर

  • संसद में विरोधियों की बोलती बन्‍द कर देते हैं हुकुमदेव यादव

अरुण कुमार सिंह

कवि गोपाल दास नीरज ने लिखा था कि…

कांपती लौ, ये सियाही, ये धुआं, यह काजल।

उम्र सब अपनी इन्‍हें गीत बनाने में कटी।।

कौन समझे मेरी आखों की नमी का मतलब।

जिन्‍दगी वेद थी, प‍र जिल्‍द बंधाने में कटी।।

कुछ ऐसी ही स्थिति है भारतीय जनता पार्टी के बिहार के मधुवनी के सांसद हुकुमदेव नारायण यादव की। उनके पास तमाम अनुभव है। अच्‍छा बोलते हैं। गांव और गरीबों की बात करते हैं। पार्टी में ऐसा कोई यादव चेहरा नहीं है। सदन में विरोधियों की खटिया खड़ी कर देते हैं। लेकिन आज भारतीय जनता पार्टी की नजर अपने ही पार्टी के इस हीरे पर नहीं जाती है। उनकी पूरी जिन्‍दगी एक वेद है। लेकिन अभी तक यह वेद केवल संसद के गलियारे में अपने नेताओं का बचाव करता दिखाई देता है।

Hukumdev singh yadav, Sansad, bjp, loksabha, garib, ganv, star, bihar, newskbn, Tappa ujiyar, gorakhpur, lucknow, delhi, Rahul

यू ट्यूब पर हैं सबसे लोकप्रिय सांसद

हुकुमदेव नारायण यादव यू ट्यूब पर सबसे लोकप्रिय सांसद हैं। यू ट्यूब पर इस नेता की हर वीडियो को 10 लाख से अधिक लोगों ने देखा है। कोई भी वीडियो ऐसी नहीं है जिसकी रेटिंग 10 लाख से कम हो। कई वीडियो को देखने वाले लोगों की संख्‍या तो करोड़ों में पहुंच चुकी है।

हुकुमदेव यादव की वीडियो देखने के लिए क्लिक करें

गांव और गरीबी को देखने वाला सांसद

देखा जाय तो गांव और गरीबी को काफी नजदीक से देखने वाले सांसद हैं हुकुमदेव नारायण यादव। वे बात करते हैं तो जमीन की बात करते हैं। उनकी बातें सबको समझ में भी आती हैं। चाहे वह अनपढ़ हो या पढ़े लिखे हाई प्रोफाइल लोग। गांव और गरीबी का इतना अच्‍छा शोध शायद ही किसी शोधकर्ता के पास हो।

 

गूगल के पास भी नहीं है फोटो

अगर गूगल पर हुकुमदेव नारायण यादव की फोटो के लिए सर्च किया जाए तो केवल यू ट्यूब के वीडियो की ही फोटो से भरे दिखाई देते हैं। फोटो के नाम पर कहीं कुछ भी नहीं है। चाहे हिन्‍दी में लिखें चाहे अंग्रेजी में लिखें। उनकी केवल यू ट्यूब की ही फोटो सामने आएगी। ऐसा लगता है कि पार्टी की तरह से गूगल भी उनके इस व्‍यक्तित्‍व को नहीं पहचान पाया।

-----
लिंक शेयर करें