Breaking News

सपा करोड़ो सरकारी रुपए प्रचार में बहाए- मायावती

बलियाः उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में मुसलमानों से लगातार वोट की अपील कर रही बसपा सुप्रीमो मायावती ने बलिया मे जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य में सपा के लगभग 5 साल और केन्द्र में भाजपा के पौने 3 वर्ष के कार्यकाल के दौरान दोनों की गलत नीतियों से प्रदेश की 22 करोड़ जनता नाराज है। उन्होंने कहा कि भाजपा अपने किसी भी चेहरे को प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में पेश करने की अभी तक हिम्मत नहीं जुटा पाई है।

सपा मुख्यमंत्री का चेहरा है दागी
सपा के मुख्यमंत्री पद का चेहरा अपनी सरकार में शुरू से ही कानून व्यवस्था व अपराध नियंत्रण के मामले में जबर्दस्त दागी चेहरा रहा है। मायावती ने कहा कि जिस सपा को अराजक, आपराधिक, सांप्रदायिक, भ्रष्टाचारी और जंगलराज आदि का खास प्रतीक माना जाता है, उसके साथ कांग्रेस भी गठबंधन में चुनाव लड़ रही है। एेसी स्थिति में अब यहां प्रदेश की आम जनता को तय करना है कि क्या वह सपा कांग्रेस गठबंधन के दागी चेहरे को वोट देंगे या इसके स्थान पर इन सभी तत्वों का सफाया कर हर स्तर पर कानून का राज करने वाली बसपा के ‘बेदागी’ चेहरे को अपना वोट देंगे।

सपा ने सरकारी करोड़ों रुपए बहाए प्रचार में  
मायावती ने कहा कि सपा सरकार ने प्रदेश की जनता का सरकारी करोड़ों अरबों रूपए अकेले मीडिया में बेदर्दी से खर्च कर दिया है जबकि इसी धन को गरीबों के हित व कल्याण के कार्यों पर भी खर्च किया जा सकता था। विकास और जनहित के जो भी थोडे कार्य हुए उनमें से अधिकांश बड़े-बडे कार्यों की शुरूआत बसपा सरकार में ही कर दी गई थी। ‘‘नाम बदलकर चला रहे हैं हमारी योजनाएं। समाजवादी पेंशन योजना का पहले का मूल नाम महामाया गरीब आर्थिक मदद योजना था।’’

मुस्लिम समाज से की बसपा को जिताने की अपील
मायावती यहां भी मुसलमानों को बसपा के पक्ष में वोट देने के फायदे बताने से नहीं चूकीं। उन्होंने कहा, ‘‘मुस्लिम समाज को भी एकतरफा वोट बसपा को देना चाहिए जिससे (बसपा) अपना दलित बेस वोट पूरी तरह एकजुट कर भाजपा को हराने के लिए सक्रिय और तत्पर है। इस वोट में विशेषकर मुस्लिम समाज का वोट जुड़ जाने से भाजपा को इसका जबर्दस्त नुकसान पहुंचेगा और भाजपा प्रदेश की सत्ता पर किसी भी की मत पर काबिज नहीं हो सकती है।’’

-----
लिंक शेयर करें